आप यहाँ है :

मीडिया संदर्भ से
 

  • विश्व धर्म संसद में स्वामी विवेकानंद के साथ भारत को गौरवान्वित करने वाले वीरचंद गाँधी

    विश्व धर्म संसद में स्वामी विवेकानंद के साथ भारत को गौरवान्वित करने वाले वीरचंद गाँधी

    ११ सितंबर १८९३ से शिकागो—अमेरिका में विश्वधर्म सम्मेलन प्रारंभ हुआ जो १७ दिन चला। सर्व धर्म परिषद शिकागो में विश्वविख्यात जैनाचार्य श्रीमद् विजयानंद सूरि प्रसिद्ध नाम आत्मारामजी को जैन धर्म के प्रतिनिधि के रूप में आमंत्रित किया और उन्हें अपनी में मानद सदस्य का स्थान दिया । साधु जीवन की मर्यादा के अनुसार श्री आत्मारामजी म.सा. का जाना संभव नहीं था तो परिषद् के अत्यधिक आग्रह पर आ

Get in Touch

Back to Top