ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

राजिंदर सिंह
 

  • श्रीगुरु जी और बन्दा बहादुर का मिलन

    श्रीगुरु जी और बन्दा बहादुर का मिलन

    भट्ट स्वरूप सिंह कोशिश आगे बताते हैं - सम्वत् १७६५ विक्रमी की कार्त्तिक शुक्ला तृतीया के दिन वैरागी माधोदास=बन्दा सिंह को पन्थ का जत्थेदार बनाकर श्रीगुरु जी ने उसे नायक भगवन्त सिंह बंगेश्वरी के टांडे में मद्रदेश (पंजाब का प्राचीन नाम) जाने का आदेश दिया।

Get in Touch

Back to Top