ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

संजीव शर्मा
 

  • आज क्यों जरूरी हैं रसखान और उनका रचना संसार..

    आज क्यों जरूरी हैं रसखान और उनका रचना संसार..

    यह महाकवि रसखान की समाधि है। भगवान कृष्ण के अनन्य भक्त रसखान की स्मृति और वर्तमान परिदृश्य में हिंदू-मुस्लिम समभाव का एक सशक्त स्थल । उप्र के मथुरा के क़रीब गोकुल और महावन के बीच मां यमुना के आंचल में स्थित यह समाधि अपने अंदर पूरा इतिहास समेटे है।

Get in Touch

Back to Top