ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

राजकीय नर्सिंग कॉलेज में नर्सिंग छात्राओं को ब्रेस्टफीडिंग का प्रशिक्षण एवं सेमिनार का आयोजन

स्तनपान सुरक्षा-किसकी जिम्मेदारी थीम, पर आधारित विश्व स्तनपान सप्ताह के तहत राजकीय नर्सिंग कॉलेज में मंगलवार को एक सेमिनार का आयोजन किया गया। सेमीनार में बीपीएनआई के राष्ट्रीय सदस्य व वरिष्ट शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. सी बी दास गुप्ता ने कहा कि ब्रेस्ट और बेबी के बीच में कोई बिजनेस नहीं होना चाहिए, बच्चे के जन्म के तुरंत बाद जितना जल्दी हो सके मां का दूध पिलाना चाहिए, स्तनपान शिशु के लिए प्रकृति का सबसे बेहतरीन आहार है, भ्रांतियों में ना आकर केवल शिशु को 6 माह तक स्तनपान ही कराना चाहिए। डिब्बा बंद लुभावने दूध व प्रोडक्ट से बचना चाहिए, ये बच्चों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड है।

शिशु के शारीरिक व मानसिक विकास के लिए मां का दूध अमृत समान है। सभी नर्सिंग छात्राओं ने स्तनपान को प्रोत्साहन देने का संकल्प लिया और गर्भवती महिलाओं को इसकी जानकारी देना अपना कर्तव्य बताया। डॉ. नवनीत बागला ने ब्रेस्ट फीडिंग के वैज्ञानिक तथ्य नर्सिंग छात्राओं को समझाएं आरसीएचओ जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.रमेश खंगवाल ने ब्रेस्टफीडिंग के फायदे मां तथा बच्चे दोनों के लिए इस विषय पर प्रकाश डाला। शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. दीपेन्द्र शर्मा ने बताया कि मां के दूध में एंटीबॉडी होते हैं जो बच्चे को वायरस और बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करते हैं, बच्चे के सर्वांगीण विकास के लिए मां का दूध ही सर्वोपरी है। नोडल निदेशक चाइल्डलाइन एवं मंडल सचिव स्काउट गाइड यज्ञदत्त हाड़ा तथा वीआर वन हेल्प फाउंडेशन की अध्यक्ष नीरज कुमारी ने प्रश्नोत्तरी के माध्यम से भी नर्सिंग छात्राओं का ज्ञान वर्धन किया। बालिका विदिशा को सही जवाब देने पर सम्मानित किया गया।

मुख्य अतिथि पूर्व महापौर एवं राजस्थान राज्य भारत स्काउट गाइड की राज्य उपप्रधान सुमन श्रृंगी ने लोगों में फैली भ्रांतियों को दूर करने पर जोर दिया और युवा पीढ़ी को इस बारे में समाज में जागरूकता लाने की आवश्यकता बताई। कार्यक्रम का संचालन यज्ञदत्त हाड़ा ने किया एवं कार्यक्रम की संयोजिका नीरज कुमारी ने तथा कॉलेज के प्रिंसिपल कस्तूरचंद मेघवाल ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए आज की सेमिनार को नर्सिंग कर्मियों के आगामी जीवन में नींव का पत्थर साबित होने वाला बताया। इस अवसर पर कोमल गुप्ता सदस्य बीपीएनआई, शहर समन्वयक चाइल्डलाइन रेखा शाक्य, समाजसेवी एवं विधि विशेषज्ञ बीटा स्वामी, समाजसेवी सुमन मठसिंहला, प्रियंका सुमन, कौशल सनाढ्य, राहुल सेन, गुंजन पंवार, मोती पंकज, वी आर वन हेल्प फाउंडेशन के कोषाध्यक्ष, सहायक सांख्यिकी अधिकारी सत्य प्रकाश शर्मा एवं नर्सिंग ट्यूटर सुनीता ठाकुर आदि उपस्थित रहे। सेमिनार का समापन नर्सिंग छात्राओं द्वारा प्रस्तुत राष्ट्रगान से हुआ।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top