आप यहाँ है :

मंदिर-मंदिर जाकर कांग्रेस ने भाजपा से बढ़त बनाई

मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के चुनावों में भी भाजपा-कांग्रेस ने मंदिरों के असर वाली सीटों पर पूरा जोर लगाया। प्रचार अभियान में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह तीनों राज्यों के 10-10 मंदिरों में गए। यहां 124 सीटों पर मंदिरों का प्रभाव है। इनमें से कांग्रेस को 35 और भाजपा को 20 सीटें मिलीं।

योगी आदित्यनाथ ने अलवर में हनुमान जी को दलित बताया था। अलवर जिले में 11 सीटें थीं, यहां भाजपा को 2 सीट मिलीं। 2013 में भाजपा ने 9 जीतीं थीं। नरेंद्र मोदी ने छिंदवाड़ा में कमलनाथ के मुस्लिम बयान को मुद्दा बनाया था। यहां कांग्रेस को 7 में से 5 सीट मिली हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अजमेर के पुष्कर में अपना गोत्र बताया था, पर कांग्रेस यह सीट हार गई। अजमेर जिले में 8 सीट हैं। इसमें से कांग्रेस को 2 और भाजपा को 5 पर जीत मिली है। राहुल ने उदयपुर में कहा था कि मोदी को धर्म की समझ नहीं है। यहां की 10 सीटों में से कांग्रेस को 5 पर जीत मिली है।

राहुल गांधी जिन 3 राज्यों में मंदिरों में गए, वहां 68 विधानसभा सीटों पर इनका प्रभाव है। मध्यप्रदेश: राहुल यहां 5 मंदिरों में जाकर 28 सीटों को कवर किया। इनमें से कांग्रेस को 13 पर जीत मिली है।

राजस्थान: तीन मंदिर गए, इनका 28 सीटों पर प्रभाव है। यहां कांग्रेस को 12 सीटों पर जीत मिली। छत्तीसगढ़: राहुल सिर्फ 2 मंदिरों में गए। इनका 12 सीटों पर असर था। कांग्रेस को 10 मिली हैं।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top