आप यहाँ है :

डेटॉल वाले भी लूट रहे हैं, बचकर रहें

लखनऊ। मैगी के बाद अब डेटॉल साबुन भी मानकों की कसौटी पर फेल हो गया है। उत्तर प्रदेश के आगरा में डेटॉल की जांच में प्रत्येक साबुन आठ ग्राम कम वजन का पाया गया। आगरा के औषधि निरीक्षक आर सी यादव ने को बताया कि नवम्बर 2014 में बाहर से आई एक टीम ने डेटॉल साबुन के नमूने लिए थे। 

नमूनों में प्रत्येक साबुन वजन में आठ ग्राम कम पाया गया। यादव ने बताया कि कम्पनी साबुन की प्रत्येक टिकिया के 125 ग्राम होने का दावा करती है लेकिन जांच में यह 117 ग्राम ही पाया गया। इसकी पुष्टि लखनऊ की प्रयोगशाला ने भी की है। अभी जांच जारी है और इसके पूरे होने पर रिपोर्ट उत्तर प्रदेश के औषधि नियंत्रक (ड्रग कंट्रोलर) को भेजी जाएगी। उन्होंने बताया कि दोष सिद्ध होने पर लाइसेंस निरस्त हो सकता है। डेटॉल पर पाबन्दी भी लग सकती है। हाल के दिनों में कई मैगी विवाद के बाद कई मल्टीनेशनल उत्पादों की जांच की जा रही है। इस दौरान कई उत्पादों में अनियमितता पाई गई है।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top