आप यहाँ है :

डॉ प्रकाश आमटे तथा डॉ मंदाकिनी आमटे को 23वाँ कर्मयोगी पुरस्कार

बाँम्बे मैडिकल एड फाउंडेशन का 23वाँ ‘कर्मयोगी पुरस्कार’ डा. प्रकाश आमटे तथा मंदाकिनी आमटे को संयुक्त रूप से रविवार 24 मार्च को प्रदत्त किया जायेगा। वे 1973 से महाराष्ट्र के गडचिरोली जिले के हिमालकासा आदिवासी इलाके में निःस्वार्थ मैडिकल सेवा प्रदान कर रहे हैं। यह सेवाकर्म उन्हें अपने महान मातापिता मुरलीधर देवीदास (बाबा आमटे) और साधनाताई आमटे से उत्तराधिकार में मिला है।

इस अवसर पर ब्रीच कैंडी अस्पताल के डा. फारूक उद्वाडिया मुख्य अतिथि होंगे। बाम्बे हाई कोर्ट के न्यायमूर्ति सत्यरंजन धर्माधिकारी तथा नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत सम्मानित अतिथि होंगे। समारोह बाँम्बे मैडिकल एड फाउंडेशन के अध्यक्ष अरुण सराफ सहित अन्य विशिष्ट-जनों की उपस्तिथि में संपन्न होगा।

बाँम्बे मैडिकल एड फाउंडेशन की स्थापना 1979 में बंबई अस्पताल के कार्डिक सर्जन डा. डीएस सक्सेना तथा पद्मश्री सीजी जोशी ने विभिन्न क्षेत्रों के कई सेवाभावी जनों के साथ मिलकर की थी। जिनमें समाजसेवी, पत्रकार, डाक्टरादि थे। पहला कर्मयोगी पुरस्कार डा. डीएस सक्सेना को दिया गया था। फाउंडेशन गरीबों को आर्थिक सहायता देने के अलावा स्वामी श्रद्धानंद अस्पताल चला रहा है, जहा पैलिएटिव केयर के अलावा एक सुसज्ज नेत्र अस्तपताल कार्यरत है; इसके अलावा फाउंडेशन मुलुंड में एक धर्मार्थ मैडिकल क्लिनिक भी संचालित कर रहा है जहाँ एक पूर्णतया सज्ज फ़िजिओथेरपी केंद्र चल रहा है। फाउंडेशन ने टायलेटो का निर्माण प्राथमिक विद्यालयों की रंगाई पुताई का कार्य संपन्न किया है और नागरमोडा, तालुका जवार, ज़िला पालघर, महाराष्ट्र में ३ वर्षों से वृक्षारोपण का कार्य हाथ में ले रखा है जिसमें आम, चीकू, काजू के वृक्ष शामिल हैं.

अधिक जानकारी के लिए कृपया संपर्क करें – 9820545985

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top