आप यहाँ है :

सेंसर बोर्ड में तू-तू मैं मैं

फिल्म सेंसर बोर्ड की आपसी लड़ाई खुलकर सोशल मीडिया नेटवर्क पर आ गई है। बॉलीवुड फिल्म निर्माता अशोक पंडित ने बोर्ड के अध्यक्ष पहलाज निहलानी के खिलाफ मोर्चा खोल लिया है। पंडित का कहना है कि अध्यक्ष के मनमाने रवैये के चलते पूर्णता नग्नता पर आधारित चर्चित हॉलीवुड फिल्म 'फिफ्टी शेड्स ऑफ ग्रे' तो सिनेमाघरों के लिए हरी झंडी पा जाती है, लेकिन कई भारतीय फिल्में अजीबोगरीब फैसलों का शिकार हो जाती हैं।

अशोक पंडित ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा 'सेंसर बोर्ड प्रमुख निहलानी के कारण फिल्म सर्टीफिकेट (सीबीएफसी) को निजी मंसूबे पूरे करने का जरिया बना लिया गया है। एक के बाद एक कई फिल्में निहलानी के रवैये की शिकार हो रही हैं।'

पंडित ने  फिल्म 'एनएच 10' का उदाहरण देते हुए कहा 'इस बॉलीवुड थ्रिलर में एक युवा जोड़े को हाइवे पर जाते समय गैंग के हमले का शिकार होते दिखाया गया है। लेकिन निर्माता के 'ए' सर्टीफिकेट के लिए राजी होने के बावजूद इस फिल्म पर नौ कट लगाए गए। अभिनेत्री और निर्माता अनुष्का शर्मा से कहा गया कि वह फिल्म में हिंसा तीस फीसद तक कम कर दें। इस पर परेशान अनुष्का ने कहा कि भला फिल्म बनने के बाद यह कैसे हो सकता है।'

.

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top