आप यहाँ है :

म.प्र. पर्यटन विकास विभाग की अनूठी पहल

भोपाल. प्रदेश के पर्यटन काे बढ़ावा देने के लिए मध्यप्रदेश पर्यटन विकास निगम (एमपीटीडीसी) और भारतीय रेलवे केटरिंग (आईआरसीटीसी) मिलकर प्रयास करेंगे। दोनों कंपनियों के साझा प्रयासों से प्रदेश में पर्यटक ढाबे, स्वागत केंद्र और बजट होटल्स का निर्माण किया जाएगा। यहां आने वाले पर्यटक अपने रुकने, खाने और ट्रेवल के लिए दोनों कंपनियाें के वेब पोर्टल का उपयोग कर सकेंगे।

प्रदेश आने वाले पर्यटकों की सुविधाओं को बढ़ाने के लिए गुरुवार को दोनों कंपनियों के बीच एमओयू किया गया। इस करार पर एमपीटीडीसी के कार्यपालिक निदेशक ओम विजय चौधरी और आईआरसीटीसी की ओर से कंपनी के रीजनल डायरेक्टर डॉ. वीरेंद्र सिंह ने हस्ताक्षर किए।

रेल पर्यटन को बढ़ावा
करार के तहत आईआरसीटीसी और एमपीटीडीसी संयुक्त रूप से रेल पर्यटन को बढ़ावा देंगे। इसके लिए आईआरसीटीसी प्रदेश में आने वाले पर्यटकों को रेलवे से संबंधित हर जानकारी उपलब्ध कराएगा। वहीं एमपी टूरिज्म पर्यटकों को आवास सुविधा, भोजन और यातायात से संबंधित जानकारी मुहैया कराएगा। दोनाें कंपनियां एक-दूसरे के ग्राहकों को अपने प्रोडक्ट और सेवाओं की जानकारी देंगी।

साझा करेंगे वेब पोर्टल
यात्रियों और पर्यटकों की सुविधा के लिए दाेनों कंपनियां एक-दूसरे के वेब पोर्टल का भी उपयोग कर सकेंगी। स्थान की उपलब्धता के अनुसार दोनों कंपनियां प्रदेश में पर्यटक ढाबे, स्वागत केंद्र और बजट होटल्स का निर्माण करेंगी। लाउंज और कॉन्फ्रेंस हॉल भी विकसित किए जाएंगे। 

भोपाल. प्रदेश के पर्यटन काे बढ़ावा देने के लिए मध्यप्रदेश पर्यटन विकास निगम (एमपीटीडीसी) और भारतीय रेलवे केटरिंग (आईआरसीटीसी) मिलकर प्रयास करेंगे। दोनों कंपनियों के साझा प्रयासों से प्रदेश में पर्यटक ढाबे, स्वागत केंद्र और बजट होटल्स का निर्माण किया जाएगा। यहां आने वाले पर्यटक अपने रुकने, खाने और ट्रेवल के लिए दोनों कंपनियाें के वेब पोर्टल का उपयोग कर सकेंगे।

प्रदेश आने वाले पर्यटकों की सुविधाओं को बढ़ाने के लिए गुरुवार को दोनों कंपनियों के बीच एमओयू किया गया। इस करार पर एमपीटीडीसी के कार्यपालिक निदेशक ओम विजय चौधरी और आईआरसीटीसी की ओर से कंपनी के रीजनल डायरेक्टर डॉ. वीरेंद्र सिंह ने हस्ताक्षर किए।

रेल पर्यटन को बढ़ावा
करार के तहत आईआरसीटीसी और एमपीटीडीसी संयुक्त रूप से रेल पर्यटन को बढ़ावा देंगे। इसके लिए आईआरसीटीसी प्रदेश में आने वाले पर्यटकों को रेलवे से संबंधित हर जानकारी उपलब्ध कराएगा। वहीं एमपी टूरिज्म पर्यटकों को आवास सुविधा, भोजन और यातायात से संबंधित जानकारी मुहैया कराएगा। दोनाें कंपनियां एक-दूसरे के ग्राहकों को अपने प्रोडक्ट और सेवाओं की जानकारी देंगी।

साझा करेंगे वेब पोर्टल
यात्रियों और पर्यटकों की सुविधा के लिए दाेनों कंपनियां एक-दूसरे के वेब पोर्टल का भी उपयोग कर सकेंगी। स्थान की उपलब्धता के अनुसार दोनों कंपनियां प्रदेश में पर्यटक ढाबे, स्वागत केंद्र और बजट होटल्स का निर्माण करेंगी। लाउंज और कॉन्फ्रेंस हॉल भी विकसित किए जाएंगे।

साभार- दैनिक भास्कर से 

.

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top