आप यहाँ है :

कार्यों की गुणवत्ता एवं समयबद्धता से समझौता नहीं-स्वायत्त शासन मंत्री

कोटा। स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने रविवार को शहर में स्मार्ट सिटी के तहत चल रहे एक दर्जन विकास कार्यों का निरीक्षण कर समय पर निर्माण कार्य पूरा कराने के निर्देश दिए।

स्वायत्त शासन मंत्री ने कार्यों की गति बढाकर सम्बन्धित संवेदकों को कार्य की गुणवत्ता एवं समयबद्धता की पालना सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कार्य निर्धारत समय में पूरा नहीं करने पर पैनल्टी लगाई जायेगी। उन्होंने कलक्टेट सर्किल पर अम्बेडकर प्रतिमा स्थल के सौन्दर्यकरण कार्य का निरीक्षण कर फुटपाथ पर रैलिंग लगवाने, उसके पास खाली भूमि में घास लगवाने एवं पीलरों के सहारे अशोक के पौधे लगवाने के निर्देश दिये। उन्होंने बांरा रोड पर निर्माणाधीन फ्लाई ऑवर के कार्य का निरीक्षण कर कार्य को निर्धारित समय में गुणवत्ता के साथ पूरा कराने के लिए अतिरिक्त मशीनरी लगाने के निर्देश दिये। उन्होंने 80 फीट रोड़ अंडरपास के निर्माण कार्य में बजरंग नगर की ओर नाले के पास खाली भूमि पर पौधरोपण कार्य करवाने के निर्देश दिये।

स्वायत्त शासन मंत्री ने झालावाड़ रोड़ पर सिटीमॉल के सामने निर्माणाधीन एलीवेटेड रोड़ का कार्य निर्धारित समय 30 सितम्बर तक पूरा कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि अभियंता गण निर्माण कार्यों की गुणवत्ता लगातार मॉनिटरिंग करते रहें। गोबरिया बावडी सर्किल अंडरपास का निरीक्षण कर सर्किल पर पौधे एवं घास लगाने के कार्य का शीघ्र करवाने के निर्देश दिये। सर्किल पर आधुनिक रंगीन रोशनी एवं अंडरपास की दिवारों पर आकर्षक टाइल्स लगवाने, स्थानीय नागरिकों के आवागमन के लिए दुकानों के आगे चारों ओर रोड का निर्माण करवाने के निर्देश दिये। उन्होंने अंनन्तपुरा फ्लाई ऑवर का निर्माण नवम्बर माह तक पूरा कराने का लक्ष्य लेकर कार्य का गति प्रदान करने की बात कही।

स्वायत्त शासन मंत्री ने देवनारायण एकीकृत आवासीय योजना का निरीक्षण कर कार्य की धीमी गति पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि अक्टूबर माह तक कार्य पूरा करना है इसमें ढ़िलाई नहीं बरतें। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों की गुणवत्ता से समझौता नहीं किया जावे, संवेदक द्वारा जहां भी घटिया कार्य किया गया है उसकी जांच कर अभियंता उसको हटवाकर नये सिरे से गुणवत्तापूर्ण कार्य कराना सुनिश्चित करें।

स्वायत्त शासन मंत्री ने नये कोटा की कॉलोलियों में पेयजल सप्लाई के लिए निर्माणाधीन फिल्टर प्लांट का निरीक्षण कर कार्य को गति प्रदान करते हुए मार्च 22 तक सभी चिन्हित क्षेत्रों में पेयजल सप्लाई शुरू कर ने का लक्ष्य लेकर कार्य पूरा करने के निर्देश दिये। उन्होंने अकेलगढ़ पम्प हाउस एवं मिनी अकेलगढ़ विस्तार कार्यो का भी निरीक्षण किया तथा कार्य का गुण्वत्ता के साथ निर्धारित समय में पूरा कराने के निर्देश दिये ताकि शहर में शुद्व पेयजल सप्लाई में व्यवधान नहीं आये। उन्होंने नांता में 1500 केएल क्षमता की अंकी निर्माण कार्य को 6 माह में पूरा करने के निर्देश दिये ताकि नागरिकों को समय पर पानी मिल सके।

स्वायत्त शसन मंत्री ने बूंदी रोड़ स्थित कमला उद्यान एवं आस-पास की कॉलोनियों में वर्षा जल भराव क्षेत्रों का निरीक्षण कर यूआईटी के अधिकारियों को सख्त निर्देश दिये कि इस प्रकार का प्लान तैयार करें कि दुबारा कभी इन क्षेत्रों में पानी भराव की समस्या नहीं रहे। उन्होंने कहा कि कैनाल के सहारे पाटन ब्रांच के पास बने पानी निकासी सिस्टम का विस्तार किया जावे, कार्य में बजट की कमी नहीं रहेगी। इससे कमला नगर विस्तार, रिद्वी सिद्वी नगर, रिद्वी-सिद्वी एन्क्लेव, गणपति नगर, गणपति रेजिडेंसी सहित आस पास की कॉलोनियों में जल भराव की समस्या से स्थाई निजात मिलेगी। उन्होंने चुंगी नाका चौराहे पर डिवाईडर के निर्माण कार्य का निरीक्षण कर कार्य की गुणवत्ता में सुधार कर आकर्षक डिजाइन में तैयार कराने के निर्देश दिये। उन्होंने चम्बल पुल पर अंडरपास निर्माण कार्य की प्रगति को भी देखा तथा शीघ्र कार्य कर यातायात शुरू करने के निर्देश दिए।

इस अवसर पर महापौर कोटा दक्षिण राजीव अग्रवाल, जिला कलक्टर उज्ज्वल राठौड़, नगर विकास न्यास के ओएसडी आरडी मीणा, सचिव राजेश जोशी, मुख्य अभियंता ओपी वर्मा, यूआईटी के पूर्व अध्यक्ष रविन्द्र त्यागी, स्थानीय पार्षद अनिल सुवालका सहित सम्बन्धित अधिकारी गण उपस्थित रहे।
Attachments area

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top