Saturday, July 20, 2024
spot_img
Homeफ़िल्मी-गपशपग्लैमर की दुनिया की चकाचौंध पर आधारित शशांक हंगामा ओटीटी ...

ग्लैमर की दुनिया की चकाचौंध पर आधारित शशांक हंगामा ओटीटी पर

बॉलीवुड में नेपोटिज़्म , माफिया गैंग और नशे की लत पर आधारित फ़िल्म शशांक ट्रेलर रिलिज़ होने के बाद से ही सुर्ख़ियों में हैं मुख्य किरदार में रवि सुधा चौधरी की फ़िल्म आज हंगामा ओटीटी पर रिलीज हो गयी हैं । फ़िल्म के अभिनेता रवि सुधा चौधरी और निर्माता मारुत सिंह ने राजधानी में मीडिया को सम्बोधित किया । पूर्णिया , बिहार के अभिनेता रवि सुधा चौधरी अपनी इस फ़िल्म को अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत को उनकी तीसरी पुण्य तिथि पर शृधांजलि देते हुए १४ जून को हंगामा ओटीटी पर रिलीज़ किया फ़िल्म जल्द ही एम एक्स प्लेयर सहित अन्य ओटीटी पर भी रिलीज़ होगी.

फ़िल्म की कहानी शशांक नाम के एक सुपरस्टार के जीवन और यात्रा के इर्द-गिर्द घूमता है, जो अपने करियर में खुद को बहुत पीछे पाता है। यह फिल्म उन चुनौतियों और संघर्षों पर आधारित है, जिनका सामना वह अस्तित्व के लिए लड़ता है और बॉलीवुड की गलाकाट दुनिया में अपनी खोई हुई प्रसिद्धि को वापस पाने का प्रयास करता है।

सनोज मिश्रा द्वारा लिखित और निर्देशित फ़िल्म शशांक फिल्म उद्योग में प्रचलित विभिन्न मुद्दों पर संवाद करती हैं। बॉलीवुड में भाई-भतीजावाद, नशीली दवाओं के दुरुपयोग और उत्पीड़न जैसे विषयों को छूती है, शशांक में मुख्य भूमिका में रवि सुधा चौधरी, आर्य बब्बर के साथ ही राजवीर सिंह, नवल शुक्ला, मुस्कान वर्मा, अपर्णा मल्लिक, अचल पांडे, संजू सोलंकी, आदित्य रॉय, वरुण जोशी और एमडी सलाउद्दीन भी प्रमुख किरदार निभाए हैं।

रुद्रांश सिने क्राफ्ट्स प्राइवेट लिमिटेड, रोर प्रोडक्शन और परमार प्रोडक्शन के बैनर तले निर्मित फ़िल्म के निर्माता रवि सुधा चौधरी और मारुत सिंह है, जिसमें रमेश परमार और संजय धीमान सह-निर्माता के रूप में काम कर रहे हैं। दीपक पंडित फ़िल्म के क्रिएटिव प्रोड्यूसर है।शशांक को मुंबई, लखनऊ और कानपुर सहित विभिन्न स्थानों पर फिल्माया गया है, जो कथा को यथार्थवादी पृष्ठभूमि प्रदान करता है।

इस अवसर पर अभिनेता रवि सुधा चौधरी बताते हैं “शशांक फिल्मों की ग्लैमरस दुनिया के काले पक्ष की दर्शकों के समक्ष प्रस्तुत करती है। फिल्म संघर्षरत अभिनेताओं की दुर्दशा को भी उजागर करती है जो अपने सपनों को पूरा करने के लिए कठिन परिस्थितियों का सामना करते हैं।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार