ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

रेल के पहियों पर पर्यटन का मजा ही कुछ और है

आप के लिए है रेलवे के ये खास पर्यटन पैकेज

विश्व पर्यटन में भारत पर्यटकों की दृष्टि से किसी स्वर्ग से कम नहीं है। प्राचीन काल से ही विभिन्न काल – खंडों में यहां अनेक शासकों का राज्य रहा। आजादी से पूर्व के शासकों और अंग्रेजों के समय में ऐतिहासिक, सांस्कृतिक और विभिन्न प्रकार की इमारतों का निर्माण हमारे पर्यटन के प्रबल माध्यम है। इनमें किले, महल, मन्दिर, गुम्बद, मकबरे, मीनारें, मस्जिदें, गुफाएं, चेत्य, स्तूप, हवेलियां, छतरियां एवं अन्य भवन पूरे भारत में दर्शनीय हैं। वन और वन्यजीव पर आधारित राष्ट्रीय वन्यजीव अभयारण्य, पहाड़ों पर हिल स्टेशन और विभिन्न देवी देवताओं के धाम, समुंदर के किनारे समुद्री बीच, पवित्र नदियों के किनारे सप्त पुरी जैसे पवित्र नगर, ऐतिहासिक नगर, ओद्योगिक नगर, भारत के चार धाम, द्वादश ज्योतिर्लिंग न केवल घरेलू वरन विदेशी पर्यटकों के भी आकर्षण का प्रमुख केंद्र हैं। साहसिक पर्यटन पैकेज भी उपलब्ध कराए जाते हैं , जिसमें पानी के खेल, जोखिम भरे खेल और जंगलों में लम्बी पैदल यात्रा इत्यादि शामिल हैं।

उत्तर से दक्षिण और पूरब से पश्चिम तक 130 करोड़ की आबादी वाले विशाल देश में पर्यटक स्थलों के साथ – साथ देश का भौगोलिक स्वरूप भी खास महत्व रखता है। समुंदर, पहाड़ों,जंगलों और नदियों के साथ पश्चिमी भारत में थार का रेगिस्तान( जिसका अधिकांश हिस्सा राजस्थान में आता है), गुजरात के कच्छ में नमक का रेगिस्तान और लेह में बर्फ का रेगिस्तान पर्यटन में विशेष महत्व रखता है प्रत्येक राज्य के सांस्कृतिक उत्सव भी आकर्षण का केंद्र होते हैं। इनमें हजारों की संख्या में विदेशी सैलानियों की उपस्थिति इनके महत्व और लोकप्रियता का स्वयं प्रमाण हैं। अत्यंत महत्व के उत्सवों को पर्यटन से जोड़ दिया गया है। पर्यटन और सांस्कृतिक उत्सव एक दूसरे के पूरक बन गए हैं।

भारत भ्रमण की ख्वाइश रखने वाले पर्यटक भारतीय रेलवे के आईंआरसीटीसी के क्षेत्रीय टूर पैकेज और लग्जरी टूर पैकेज से आरामदेह भारत भ्रमण का लुत्फ उठा सकते हैं।आईआरसीटीसी की आधिकारिक वेबसाइट पर आसानी से पैकेज टूर की जानकारी प्राप्त कर सर्वश्रेष्ठ टूर पैकेज बुक कर सकते हैं। होमपेज पर ‘छुट्टियां’ पर क्लिक कर और ‘पैकेज’ चुन कर फिर भूमि, हवाई और रेल टूर पैकेजों की श्रृंखला में से पसंद का पैकेज चुन सकते हैं और अपने सपनों की छुट्टी को बीतने की यात्रा एक पल में बुक कर सकते हैं। भारत में रेलवे के करीब 70 पर्यटन पैकेज संचालित किए जाते हैं जिनसे भारत भ्रमण का मौका सैलानियों को मिलता हैं। हम आपको इस अध्याय में आईआरसीटीसी द्वारा संचालित कुछ खास पर्यटन पैकेज की जानकारी दे रहे हैं।

रामायण सर्किट
धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए आधुनिक साज सज्जा के साथ तैयार पहली वातानुकूलित भारत गौरव ट्रेन श्री रामायण यात्रा के लिए शुरू की गई है। यह ट्रेन स्वदेश दर्शन के अंतर्गत चिह्नित रामायण सर्किट पर श्री राम के जीवन से जुड़े स्थलों का पर्यटन करवाती हैं। नेपाल स्थित जनकपुर से राम जानकी मंदिर का भ्रमण भी इस ट्रेन टूर में शामिल किया गया है। पहले जनकपुर का भ्रमण सीतामढ़ी स्टेशन से सड़क मार्ग के जरिए कराया जाता था, जिसे अब सीधे जनकपुर तक ले जाया गया है। कुछ ही दिन पहले भारतीय रेलवे ने नेपाल रेलवे के सहयोग से जनकपुर तक रेल सेवा का संचालन शुरू किया है।

दिल्ली सफदरजंग रेलवे स्टेशन से 18 दिनों के टूर पर रवाना होने वाली भारत गौरव एसी पर्यटक ट्रेन में एसी तृतीय श्रेणी के कुल 10 कोच यात्रियों के लिए रखे गए हैं। इनमें कुल 600 यात्रियों के यात्रा करने की सुविधा है।

यह पर्यटक ट्रेन अयोध्या से रवाना होकर यह ट्रेन बक्सर पहुंचेगी जहां विश्वामित्र का आश्रम और रामरेखा घाट पर गंगा स्नान आंनद पर्यटक ले सकेंगे। यहां से ट्रेन जयनगर होते हुए जनकपुर तक जाएगी जहां रात्रि विश्राम होगा। यहांं से पर्यटकों को सीतामढ़ी ले जाकर जानकी जन्म स्थान का दर्शन कराए जाएंगे और उन्हें राम जानकी मंदिर का दर्शन का पुण्य प्राप्त होगा। ट्रेन का अगला पड़ाव भगवान शिव की नगरी काशी रखा गया है। यहां से पर्यटक बस द्वारा काशी के प्रसिद्ध मंदिरों सहित सीता समाहित स्थल, प्रयाग, श्रृंगवरपुर और चित्रकूट की यात्रा करेंगे। इस दौरान काशी प्रयाग और चित्रकूट में रात्रि विश्राम रखा गया है। चित्रकूट से चलकर ट्रेन नासिक पहुंचेगी, जहां पंचवटी और त्रयंबकेश्वर मंदिर का भ्रमण किया जा सकेगा। नासिक के आगे प्राचीन किष्किंधा नगरी, हंपी इस ट्रेन का अगला पड़ाव रखा गया है जहां पर अंजनी पर्वत स्थित हनुमान जन्म स्थल और अन्य महत्वपूर्ण धार्मिक और विरासत मंदिरों के दर्शन कराये जाएंगे। हंपी के बाद रामेश्वरम इस ट्रेन का अगला पड़ाव रखा गया है। रामेश्वरम में पर्यटकों को प्राचीन शिव मंदिर और धनुषकोटि के दर्शन करवाये जाएंगे। रामेश्वरम से चलकर यह ट्रेन सप्त पुरियों में एक पुरी कांचीपुरम पहुंचेगी। यहां शिव कांची, विष्णु कांची और कामाक्षी माता मंदिर का भ्रमण करवाया जाएगा। इस ट्रेन का अंतिम पड़ाव तेलंगाना राज्य में स्थित भद्राचलम होगा, जिसे दक्षिण की अयोध्या की संज्ञा से विभूषित किया गया है। यहां तक यात्रा कर यह ट्रेन 18 दिन दिल्ली वापस पहुंचेगी।

इस प्रकार यह पर्यटक ट्रेन करीब 8,000 किमी की यात्रा कर दोनों देशों की धार्मिक और सांस्कृतिक विरासत को मजबूती प्रदान में महत्वपूर्ण माध्यम बनती है। ट्रेन में 18 दिनों की यात्रा के लिए 62,370 रुपए शुल्क प्रति व्यक्ति निर्धारित किया है। टूर पैकेज की कीमत में यात्रियों को रेल यात्रा के अलावा भोजन, बसों के जरिए पर्यटक स्थलों का भ्रमण, एसी होटलों में ठहरने की व्यवस्था, गाइड और इंश्योरेंस की सुविधाएं भी उपलब्ध करवाई जाती है।

स्वदेश दर्शन

भारत के प्रसिद्ध और मशहूर तीर्थ स्थलों के इच्छुक पर्यटकों के लिए स्वदेश दर्शन नाम से टूर पैकेज संचालित किया जाता है। इसमें एक निश्तिच धनराशि खर्च करके यात्रियों को अयोध्या के रामलला से लेकर काशी विश्वनाथ, गंगासागर समेत जगन्नाथ पुरी तक के दर्शन का अवसर मिलता है। यात्रा के दौरान पर्यटकों के रहने, खाने-पीने और मंदिरों तक आवागमन के लिए बस या टैक्सी की भी व्यवस्था की जाती है। गर्मियों की छुट्टियों में परिवार के साथ तीर्थ स्थलों का दर्शन करने का यह बेहतर समय और मौका है। घर के बड़े बुजुर्गों और बच्चों को इन धार्मिक जगहों के दर्शन कराने के साथ ही यहां के खूबसूरत नजारों का आनंद भी ले सकते हैं।

यह नया टूर पैकेज पूरे 9 दिन और 8 रात अवधि का है। इस टूर पैकेज में पर्यटकों को अयोध्या की राम जन्मभूमि, हनुमानगढ़ी, सरयू आरती, वाराणसी में काशी विश्वनाथ मंदिर, बैद्यनाथ मंदिर, गंगासागर, कोलकाता का काली मंदिर, पुरी में जगन्नाथ मंदिर और कोणार्क मंदिर के दर्शन कराए जाएंगे। पर्यटक अपने सफर की शुरुआत उत्तरप्रदेश के कुछ स्टेशनों आगरा कैंट, ग्वालियर, वीरांगना लक्ष्मीबाई, उरई, कानपुर और लखनऊ से भी कर सकते हैं। स्वेदश दर्शन योजना के लिए प्रति यात्री 3 एसी क्लास का किराया 23,830 रुपये और नान एसी क्लास के लिए 16,700 रुपये खर्च करने होंगे। जिसमें यात्रा के दौरान सुबह का नाश्ता, दोपहर और रात का शाकाहारी खाना, स्थानीय सफर के लिए नाॅन एसी बस, नॉन एसी धर्मशाला में ठहरने की व्यवस्था की जाती है।
पर्यटक, इस टूर पैकेज की बुकिंग करना चाहते हैं वह लखनऊ के गोमतीनगर स्थित पर्यटन भवन में बने आईआरसीटीसी कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा टूर पैकेज बुक करने के लिए आईआरसीटीसी की आधिकारिक वेबसाइट पर आनलाइन बुकिंग की सुविधा भी है।

भारत दर्शन पैकेज

भारत के विभिन्न स्थानों पर घूमने की पर्यटकों की पसंद और सस्ती यात्रा के लिए भारतीय रेलवे महत्वपूर्ण स्थानों के लिए अनेक ट्रेनों का संचालन करता है। आईआरसीटीसी भारत यात्रा पर्यटन के अविस्मरणीय अनुभव के लिए “भारत दर्शन पैकेज” संचालित करता है। पर्यटक विशाखापत्तनम, तिरुपति, कन्याकुमारी और रामेश्वरम जैसी विविध संस्कृति और विरासत वाले स्थलों को देख सकते हैं। इन स्थानों पर सुंदर समुद्र तट और रामनाथस्वामी मंदिर जैसे प्राचीन मंदिर हैं। गोवा, केरल, मुंबई और अंडमान द्वीप समूह जैसी अद्भुत जगहों पर भी ले जाने के लिए अलग से पैकेज हैं जो पर्यटकों को खुश और संतुष्ट करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। अधिकांश टूर पैकेज पूरी यात्रा को परेशानी मुक्त बनाने के लिए शानदार ऑन-बोर्ड भोजन और आवास जैसी प्रमुख सुविधाओं के साथ बनाए गए हैं।

बौद्ध सर्किट
आईआरसीटीसी ने 2007 में बौद्ध सर्किट टूरिस्ट ट्रेन के शुभारंभ के साथ ट्रेनों द्वारा विशेष रुचि के पर्यटकों के भ्रमण का बीड़ा उठाया। बौद्ध सर्किट पर्यटक ट्रेन यात्रा बुद्ध के जीवन से जुड़े महत्वपूर्ण स्थलों के दर्शन कराती है। मेहमानों को बेहतर सुविधाएं प्रदान करने के लिए 2018 में अत्याधुनिक सुविधाओं वाली एक नई ट्रेन शामिल की गई। इस ट्रेन के 7 रातों और 8 दिनों के पैकेज में बोधगया, नालंदा, सारनाथ, श्रावस्ती, राजगीर, वाराणसी, लुंबिनी और आगरा के दर्शनीय स्थल शामिल किए गए हैं।

दक्षिण भारत पैकेज
आईआरसीटीसी ने जनवरी 2020 में कर्नाटक राज्य पर्यटन विकास निगम लिमिटेड से 10 वर्षों की अवधि के लिए गोल्डन चैरियट लग्जरी ट्रेन पैकेज के विपणन और संचालन का कार्यभार संभाला। गोल्डन चैरियट दक्षिण भारत की आत्मा के कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल और गोवा में गंतव्यों के दर्शन कराती है। पर्यटक इस यात्रा के माध्यम से दक्षिणी भारत के धर्म, संस्कृति, प्रकृति और रोमांच का पूरा लुत्फ ले सकते हैं।

हनीमून पैकेज
केरल हनीमून पैकेज नाम का हनीमून घरेलू टूर पैकेज भी इंडिया टूर पैकेज में शामिल है। भारतीय संस्कृति का हिस्सा बन कर और छुट्टियों में मंत्रमुग्ध कर देने वाले अनुभव के लिए यहां के लोकगीतों, संगीत, नृत्य, रूपों, पोशाक, भाषा, भोजन और अनंत पर्यटन स्थलों का आनंद ले सकते हैं। पर्यटक इस यात्रा को जीवन भर नहीं भूल पाएंगे।

कंचनजंगा पैकेज
पर्यटक बर्फ से ढके पहाड़ों और पहाड़ी क्षेत्रों को देखना चाहते हैं तो आसानी से घरेलू रेल टूर पैकेज के तहत कंचनजंगा पैकेज चुन सकते हैं। इसमें रुमटेक मठ, रिंबी वाटर फॉल्स, पेमायंग्त्से मठ, हिमालय पर्वतारोहण संस्थान और बहुत कुछ शानदार रोमानी स्थल शामिल हैं।

रंगीन राजस्थान
भारत यात्रा के लिए रंगीन राजस्थान जैसे पैकेज में रियासत के प्रमुख स्थलों के दर्शन कराए जाते हैं। इस पैकेज में पर्यटक जयपुर, अजमेर, जैसलमेर, जोधपुर और उदयपुर की मंत्रमुग्ध कर देने वाली सुंदरता में खो जाते हैं।

जयपुर को विश्व में गुलाबी नगर के रूप में पहचाना जाता है। इस शहर को यूनेस्को ने भारत की विश्व धरोहर में शामिल किया है। अजमेर ख्वाजा साहब की दरगाह और तीर्थ स्थल पुष्कर के लिए विख्यात है। बीकानेर और जैसलमेर में बिखरा रेगिस्तानी सौंदर्य अद्भुत है। उदयपुर को झीलों की नगरी एवं राजस्थान का कश्मीर कहा जाता है। महल,किले,संग्रहालय, मन्दिर, हवेलियां, जंतर मंतर, उद्यान, वेशभूषा, राजस्थानी भोजन, सांस्कृतिक परम्परा और हस्तशिल्प उत्पाद पर्यटकों के लिए इन स्थलों के महत्वपूर्ण आकर्षण हैं।

( लेखक पर्यटन विषय पर मुख्य रूप से लिखते हैं और इनके लेख देश के विभिन्न समाचार पत्रों में प्रकाशित होते हैं )

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top