Wednesday, May 29, 2024
spot_img
Homeजियो तो ऐसे जियोपत्नी को इलाज के बीच गर्मी लगी थी, पूरे वार्ड में लगवा...

पत्नी को इलाज के बीच गर्मी लगी थी, पूरे वार्ड में लगवा दिया कूलिंग सिस्टम

पत्नी देवश्री राय (49) को ब्रेस्ट कैंसर था। इलाज के लिए जवाहरलाल नेहरू कैंसर हॉस्पिटल में भर्ती कराया। डॉक्टरों ने कीमोथेरेपी दी। इसके लिए जिस वार्ड में भर्ती किया, वहां गर्मी से राहत देने की कोई व्यवस्था नहीं थी। कीमोथेरेपी के दौरान पत्नी को गर्मी से हुई तकलीफ का अहसास बीते साल फरवरी 2014 में उसकी मौत के बाद हुआ। यह कहना है नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्निकल टीचर ट्रेनिंग एंड रिसर्च (एनआईटीटीआर) में कार्यरत प्रो. सुब्रत राय का।
देवश्री को हुई तकलीफ को प्रो. राय नहीं भुला पाए। देवश्री जैसी परेशानी दूसरे मरीजों को न सहनी पड़े, इसके लिए 54 पलंग वाले कीमोथेरेपी वार्ड में 9 लाख रुपए की लागत का एयर कूलिंग सिस्टम इन्स्टॉल कराया ताकि कीमोथेरेपी के दौरान मरीजों को गर्मी के कारण होने वाली तकलीफ को कम किया जा सके।
प्रो. सुब्रत राय ने शुक्रवार को पत्नी के 50वें जन्मदिन पर अस्पताल के एयरकूल्ड वार्ड को लोकार्पित किया। इस समय वार्ड में 30 से ज्यादा मरीजों को भर्ती किया गया है। उन्होंने बताया कि देवश्री मैनिट के कम्प्यूटर साइंस डिपार्टमेंट में एचओडी के पद पर पदस्थ थी।
पानी की किल्लत दूर करने बोरवेल कराया
प्रो. सुब्रत राय ने बताया कि अस्पताल में भर्ती मरीजों को गर्मियों में पानी के लिए काफी परेशान होना पड़ता था। इस कारण इसी साल 10 फरवरी 2015 को अस्पताल में देवश्री की पहली पुण्य तिथि पर 2 लाख रुपए खर्च कर पानी का बोरवेल कराया था। वर्तमान में इसी बोरवेल से अस्पताल में पानी की सप्लाई हो रही है।
जनरल वार्ड की फीस पर एयरकूल्ड वार्ड
कैंसर हॉस्पिटल के एडिशनल डायरेक्टर राकेश जोशी ने बताया कि प्रो. सुब्रत राय द्वारा एयरकूल्ड कराए गए कीमोथेरेपी वार्ड में मरीजों का इलाज जनरल वार्ड के खर्च पर किया जाएगा। इस वार्ड में एक दिन की फीस 200 रुपए ली जाती है। अब एयरकूल्ड होने के बाद भी यही फीस रहेगी।

साभार – http://www.bhaskar.com/ से

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार