Wednesday, May 22, 2024
spot_img
Homeप्रेस विज्ञप्तिडाक विभाग द्वारा लखनऊ में इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक खाते खोलने का...

डाक विभाग द्वारा लखनऊ में इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक खाते खोलने का अभियान

लखनऊ। कोरोना महामारी के बीच आमजन को परेशानियों से बचाने हेतु डाक विभाग द्वारा घर-घर जाकर लोगों को न सिर्फ उनके बैंक खातों से पैसे निकालने की सुविधा दी जाएगी, बल्कि उनके नए खाते भी खुलवाए जायेंगे। लखनऊ डाक परिक्षेत्र के अधीन 6 जनपदों में 27 जून को घर बैठे आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम के माध्यम से पैसे निकालने, 29 जून को इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के खाते खुलवाने और 4 जुलाई को डाकघर बचत योजनाओं और सुकन्या समृद्धि योजना के खाते खोलने के लिए वृहद अभियान चलाया जायेगा। उक्त जानकारी लखनऊ मुख्यालय परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने दी। लखनऊ के साथ-साथ बाराबंकी, सीतापुर, रायबरेली, अयोध्या और अम्बेडकरनगर जनपदों में ‘वित्तीय समावेशन’ का यह अभियान सोशल डिस्टेंसिंग व पूरी एहतियात बरतते हुए चलेगा।

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि प्रवासी मजदूर जो विभिन्न राज्यों से वापस आये हैं, उन्हें विशेष रूप से ध्यान में रखते हुए यह अभियान चलाया जा रहा है। ताकि उन्हें धन निकासी में कोई असुविधा न हो और घर बैठे ही उनकी डीबीटी राशि उन्हें उपलब्ध करायी जा सके। डाकियों के पास उपलब्ध माइक्रो एटीएम से प्रतिदिन एक व्यक्ति अपने आधार लिंक्ड बैंक खाते से दस हजार रूपए तक की रकम निकाल सकता है। इस अभियान के दौरान लोगों को ऑनस्पॉट उनके दरवाजे पर ही इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के खाते खोलने की सुविधा भी प्रदान की जाएगी। सिर्फ आधार नंबर और मोबाईल नंबर के साथ यह खाता पेपरलेस रूप में खुलेगा, किसी भी प्रकार के अन्य कागजात या औपचारिकता की जरूरत नहीं होगी। इससे लोगों को भविष्य में भी घर बैठे आईपीपीबी के माध्यम से डीबीटी राशि प्राप्त करने में आसानी होगी। इस खाते के माध्यम से मोबाईल व डीटीएच रिचार्ज, बिजली व पानी बिल भुगतान जैसी तमाम सुविधाएँ मिलेंगी। श्री यादव ने बताया कि लखनऊ परिक्षेत्र में लॉकडाउन से अब तक 5 लाख से अधिक लोगों को लगभग 76 करोड़ रुपये की राशि उनके बैंक खातों से निकालकर घर बैठे डाकिया द्वारा प्रदान की जा चुकी है। साथ ही, लखनऊ परिक्षेत्र में अबतक 4 लाख 71 हजार से अधिक लोग इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के साथ जुड़ चुके हैं और घर बैठे इसकी सेवाओं का लाभ ले रहे हैं।

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि केंद्र व राज्य सरकारें विभिन्न सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के तहत वृद्धावस्था पेंशन, विधवा पेंशन, जनधन योजना, दिव्यांग पेंशन, मातृत्व वंदन योजना, उज्ज्वला, मनरेगा, पीएम किसान सम्मान निधि इत्यादि की धनराशि कोर बैंकिंग सिस्टम की सहायता से लोगों के बैंक खातों में सीधे पहुँच रही है, परन्तु कई बार समीप में किसी बैंक की ब्रांच, एटीएम अथवा कोई अन्य बैंकिंग सुविधा उपलब्ध नहीं होने के चलते लोग पैसे नहीं निकाल पाते। इस समस्या को ध्यान में रखते हुए डाक विभाग समय-समय पर इस प्रकार के अभियान चलाकर लोगों को लाभान्वित कर रहा है।

श्री यादव ने कहा कि, इसी क्रम में 4 जुलाई को डाकघर बचत योजनाओं और सुकन्या समृद्धि योजना के खाते खोलने के लिए विभिन्न स्थानों पर कैंप लगाकर व डाकघरों में वृहद अभियान चलाया जायेगा। लखनऊ परिक्षेत्र में वर्तमान में 55 लाख से अधिक खाते संचालित हैं और 2.31 लाख पात्र बालिकाओं के सुकन्या समृद्धि खाते खोले जा चुके हैं।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार