आप यहाँ है :

पापनाशिनी गंगा धारावाहिक में नंदीश्वर की भूमिका में छाया कोटा का प्रणीत

कोटा। देशभर में शिक्षानगरी के रूप में विख्यात कोटा शहर के युवा अभिनय व मॉडलिंग की दुनिया में नाम कमा रहे हैं। टीवी सीरियल में मौका मिलने पर वे अपने अंदर छुपी प्रतिभाओं से अपने हुनर का लोहा मनवा रहे हैं। कई टीवी सीरियलों में कोटा के युवाओं ने अदाकारी दिखाई है। अब कोटा का एक और युवा बालक प्रणीत शर्मा भी धारावाहिक पापनाशिनी गंगा में नजर आ रहा है। प्रणीत इसमें नंदीश्वर की भूमिका में नजर आ रहे हैं। इस उपलब्धि से परिजनों में हर्ष है।

कोटा के कैथूनीपोल निवासी रेलवे से सेवानिवृत्त ओपी शर्मा का पौत्र बाल कलाकार प्रणीत शर्मा के पिता विकास शर्मा एक निजी बीमा कंपनी में एरिया मैनेजर हैं। एक वर्ष की आयु मंे जोनसन बेबी का खिताब जीतने वाला प्रणीत 5 साल की उम्र से ही टीवी पर सक्रिय है। कॅरियर की शुरूआत इंडिया बेस्ट ड्रामेबाज सीजन वन से हुई और शो के अंत तक नन्हे प्रणीत ने सबका दिल जीतकर रनर अप का खिताब जीता और सर्फ एक्सल बनचेम्पस और भी जाने-माने ब्राण्ड का विज्ञापन किया। शनिदेव के वाहन मित्र काकोल के किरदार से उन्होंने अपने नाम को अलग उंचाई पर पहुंचा दिया और एक बार फिर से दर्शकों की वाहवाही और प्रेम पाने के लिए पापनाशिनी गंगा में प्रणीत नंदीश्वर के रूप में दिखाई दे रहा है, ईशारा चैनल के पापनाशिनी गंगा में सोमवार से शुक्रवार सायं 7 बजे और 9 बजे यह धारावाहिक प्रसारित हो रहा है।

उनका पहला डेली शो ‘एक मुट्ठी आसमान था‘, जिसमें उन्होंने प्रेम का किरदार निभाया। ड्रामेबाज कम्पनी ‘कबूल है जी रिश्ते अवार्ड, डी.आई.डी., सी.आई.डी, सिने स्टार की खोज, डी.आई.डी मेम्स‘ समेत अन्य शो में अपना हुनर दिखाया। वर्ष 2016 में कर्मफल दाता शनिदेव में काकोल की भूमिका बेहद सराहनीय रही।

प्रणीत को सिर्फ अभिनय का ही नहीं पढने का भी बहुत शौक है। आज के दौर में जहां बच्चे गेजेट और फोन में व्यस्त रहते हैं, वहीं प्रणीत मुंशी प्रेमचंद और अमित त्रिपाठी की किताबें पढते हैं। किताबों के शौकीन प्रणीत के पास लगभग 400 से 450 अंग्रेजी व हिन्दी की किताबें हैं। बुद्धि से कुशाग्र प्रणीत जीवन में अच्छे इंसान बनकर देश की सेवा करना चाहते हैं। अब्दुल कलाम को यह अपना आदर्श मानते हैं।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top