Friday, May 24, 2024
spot_img
Homeप्रेस विज्ञप्तिनागरिकों को रोजगार के नए अवसर तलाशने होंगे- अनिल गलगली

नागरिकों को रोजगार के नए अवसर तलाशने होंगे- अनिल गलगली

मुंबई। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती के अवसर पर करियर मार्गदर्शन कार्यक्रम आयोजित किया गया

कर्मवीर भाऊराव पाटिल प्रबोधिनी लाइब्रेरी और न्यू एंटरप्रेन्योर कुर्ला ने संयुक्त रूप से कुर्ला में संजय मोरे और गीतेश खेडेकर द्वारा करियर विषय पर करियर ओरिएंटेशन प्रोग्राम का आयोजन किया. कार्यक्रम में मार्गदर्शक के तौर पर आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली, अमेय नागवकर, प्रो. दिलीप मेंहंदले और विनोद साडविलकर मौजूद थे.

आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली ने कहा कि कोरोना काल में रोजगार समाप्त हो गया है और अब स्वरोजगार की ओर मुड़ने का समय आ गया है. सरकार और महानगर पालिका अपने स्तर पर यथासंभव काम कर रही है लेकिन नागरिकों को रोजगार के नए अवसर तलाशने की जरूरत है। अमेय नागवकर ने उपस्थितों का बेहतरीन मार्गदर्शन किया।

इस मौके पर श्रुती साडविलकर,दक्षा कटके,शुभम मोरे,शारदा मोरे,अक्षदा सांडगे,तन्वी नांगरे,सतीश नांगरे,अवधूत पारकर छात्र सहभागी हुए. इसके अलावा गिरीश कटके,धनंजय पवार, महेंद्र भास्कर, सलीम शेख, राजेंद्र गायकवाड, चंद्रकांत यादव, दशरथ सुर्यवंशी, सायरा शेख, रश्मी भावसार, भाऊ शेलटकर, प्रकाश वाघ, सीमींतिनी खोपकर, जनार्दन कारंडे, राम वर्मा, मनोहर सांडगे, मुश्ताक अली, चारूदत्त पावसकर, संतोष वेंगुर्लेकर, विश्वनाथ सावंत, एड.प्रणिल गाढवे, अनिकेत गाढवे आदि उपस्थित थे. आभार प्रदर्शन सामाजिक कार्यकर्ता विनोद साडविलकर ने माना.

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार