आप यहाँ है :

कोका-कोला ने कोविड-19 में मदद के लिये यूनाइटेड वे मुंबई के साथ भागीदारी की

~ 48 अस्पतालों को सहयोग देने, 9,600 स्वास्थ्यरक्षा और चिकित्सा कर्मियों और 65,000 से अधिक सार्वजनिक सेवा कर्मियों को सकारात्मक रूप से प्रभावित करने का लक्ष्य

नई दिल्ली।: कोविड-19 के दौरान राहत के प्रयासों को बढ़ाने की जरूरत देखते हुए, भारत में कोका-कोला ने यूनाइटेड वे मुंबई के साथ भागीदारी की है। इसके अंतर्गत, देश के आठ राज्यों के 48 सार्वजनिक अस्पतालों में स्वास्थ्यरक्षा की पहलों को विस्‍तारित किया जाएगा। यह भागीदारी सार्वजनिक अस्पतालों और स्वास्थ्यरक्षा कर्मियों को बड़े पैमाने पर सहयोग देने के अलावा देश के सैनिटाइजेशन कर्मियों, पुलिस कर्मचारियों और सामुदायिक स्वास्थ्य कर्मियों जैसे 65,000 से अधिक सार्वजनिक सेवा कर्मियों की सेवा करने का वादा करती है। यह पहल संकट से लड़ने और महामारी के फैलाव को रोकने में स्वास्थ्यरक्षा प्रणाली और समुदायों की सहायता के लिये कोका-कोला के 100 करोड़ रुपये की प्रतिबद्धता का एक हिस्सा है।

राहत कार्यक्रम का शुरूआती चरण गंभीर रूप से प्रभावित आठ राज्यों में होगाः महाराष्ट्र (मुंबई, पुणे), दिल्ली, तमिलनाडु (चेन्नई), कर्नाटक (बेंगलुरू), तेलंगाना (हैदराबाद), गुजरात, पंजाब और हरियाणा। तुरंत सहयोग प्रदान करने और हेल्‍थ इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर के विस्तार के लिये सार्वजनिक अस्पतालों को स्वास्थ्यरक्षा कर्मियों की सुरक्षा के लिये व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) प्रदान किये जाएंगे, जैसे एन95 मास्क, 3-प्लाय डिस्पोजेबल मास्क, सर्जिकल कैप, सर्जिकल गॉगल, वाटरप्रूफ गाउन, शू कवर और ग्लव्‍स। सहयोग के इस पैकेज में सैनिटाइजर डिस्पेंसर, अतिरिक्त आईसीयू बेड और नॉन-कॉन्टैक्ट थर्मामीटर भी होंगे, ताकि देशभर में अपेक्षित मामलों से निपटने के लिये पर्याप्त चिकित्सकीय तैयारी रहे। इस पहल का लक्ष्य सरकारी निकायों और स्थानीय संस्थानों के साथ मिलकर हमारे फ्रंटलाइन स्वास्थ्यरक्षा कर्मियों और समुदायों की मूलभूत जरूरतों को पूरा करना, उनकी सुरक्षा का पूरा ध्‍यान रखना और भारत में 9600 स्वास्थ्यरक्षा कर्मियों और 9 लाख से ज्यादा रोगियों को सकारात्मक रूप से प्रभावित करना है।

इसके अलावा, हॉटस्पॉट ज़ोन्स में काम कर रहे सार्वजनिक सेवा कर्मियों, जैसे पुलिस कर्मचारियों, सैनिटाइजेशन कर्मियों और अन्य सामुदायिक तथा सामाजिक कर्मियों को सैनिटाइजर डिस्पेंसर्स के साथ मास्क और ग्लव्स भी प्रदान किये जाएंगे। यह सहयोग भारत में लगभग 50,000 सैनिटाइजेशन कर्मियों, 11,000 से अधिक पुलिस कर्मियों और 6,000 सामुदायिक स्वास्थ्य कर्मियों तक पहुँचने की अपेक्षा है।

इस पहल पर टिप्पणी करते हुए श्री इश्तियाक़ अमजद, वाइस-प्रेसिडेन्ट, पब्लिक अफेयर्स, कम्युनिकेशंस एंड सस्टैनेबिलिटी, कोला-कोला इंडिया एंड साउथ वेस्ट एशिया ने कहा, ‘‘हम देश के फ्रंटलाइन वॉरियर्स के स्वास्थ्य और सुरक्षा में सहयोग प्रदान करने के लिये यूनाइटेड वे मुंबई के साथ जुड़कर आभारी हैं। हमें उम्मीद है कि संयुक्त प्रयासों और लोचशीलता के साथ हम खुद को इस परीक्षा की घड़ी से बाहर निकाल लेंगे।’’

श्रीमती जयंती शुक्ला, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, यूनाइटेड वे मुंबई ने कहा, ‘‘वायरस के तेज फैलाव के कारण डॉक्टरों, नर्सों और अन्य फ्रंटलाइन वर्कर्स की सुरक्षात्मक उपकरणों तक पहुँच अपर्याप्त है। यह उपकरण उनकी सुरक्षा के लिये जरूरी हैं। इस परीक्षा की घड़ी में उनकी व्यक्तिगत सुरक्षा का ध्‍यान रखना और उनके स्वास्थ्य की सुरक्षा करना महत्वपूर्ण है, ताकि हमारे नागरिकों को आवश्यक देखभाल और सहयोग मिलता रहे। इस गठबंधन के माध्यम से कोका-कोला और यूनाइटेड वे मुंबई सबसे अधिक जरूरत वाले क्षेत्रों में मध्यस्थताओं की पहचान करना जारी रखेंगे और उसी अनुसार योजना बनाएंगे और अपना सहयोग देंगे।’’

यूनाइटेड वे मुंबई के विषय में

यूनाइटेड वे मुंबई 130 वर्ष पुराने यूनाइटेड वे आंदोलन का हिस्सा है, जो विश्व के 41 देशों के लगभग 1800 समुदायों के साथ काम करता है। हमारा मिशन है समुदायों की देखभाल की शक्ति को गति देकर जीवन में सुधार करना, ताकि सभी की भलाई का काम आगे बढ़े। हम 400 से अधिक एनजीओ के नेटवर्क और सीएसआर कार्यक्रमों के लिये बड़ी संख्या में कॉर्पोरेट्स के साथ निकटता से काम करते हैं, कार्यस्थलों पर अभियान चलाते हैं और अन्य आयोजन करते हैं। हमारे प्रमुख कार्यक्रम मुख्य रूप से नागरिक जागरूकता, स्वास्थ्य, सुरक्षा और ग्रीनिंग जैसे क्षेत्रों में होते हैं। इसके अलावा, हमने शहरी और ग्रामीण समुदायों के लिये शिक्षा, पोषण और स्वच्छता के क्षेत्र में बड़े पैमाने पर मध्यस्थताएं निर्मित और संचालित की हैं।

www.unitedwaymumbai.org पर यूनाइटेड वे मुंबई और हमारी पर्यावरणीय पहलों के बारे में और पढ़ें।

कोका-कोला कंपनी के विषय में

कोका-कोला कंपनी (NYSE: KO) दुनिया की सबसे बड़ी पेय कंपनी है, जोकि 500 से अधिक स्‍पार्कलिंग एवं स्टिल ब्रांडों और लगभग 3,900 पेयविकल्‍पों के साथ ग्राहकों को तरोताजा करती है। दुनिया की सबसे मूल्‍यवान और सम्‍मानित ब्रांडों में से एक, कोका-कोला द्वारा प्रवर्तित, हमारी कंपनी के पोर्टफोलियो में 21 बिलियन डॉलर के ब्रांड्स शामिल हैं जिनमें से 19 रिड्यूस्‍ड, लो या नो कैलोरी प्रोडक्‍ट्स में उपलब्‍ध हैं।

ये ब्रांड्स हैं डाइट कोक, कोका-कोला जीरो, फैंटा, स्‍प्राइट, दसानी, विटामिनवाटर, पावरेड, मिनट मेड, सिम्‍प्‍ली, डेल वैल्‍ले, जियॉर्जिया एवं गोल्‍ड पीक। दुनिया के सबसे बड़े पेय वितरण तंत्र के माध्‍यम से, हम स्‍पार्कलिंग और स्टिल बेवरेजेज दोनों में नंबर 1 प्रदाता हैं।

हर दिन 200 से अधिक देशों के उपभोक्ता हमारे पेयों की 1.9 बिलियन से अधिक सर्विंग्स का आनंद लेते हैं। स्थायी समुदायों के निर्माण की सशक्त प्रतिबद्धता के साथ हमारी कंपनी ऐसी पहलों पर केन्द्रित है, जो पर्यावरण पर हमारे प्रभाव को कम करती हैं, हमारे असोसिएट्स के लिये काम का एक सुरक्षित और समावेशी माहौल बनाती हैं और हमारे परिचालन वाले समुदायों के आर्थिक विकास को बल देती हैं। अपने बॉटलिंग पार्टनर्स के साथ मिलकर हम 700,000 से अधिक सिस्टम असोसिएट्स के साथ विश्व के शीर्ष 10 निजी नियोक्ताओं में शुमार होते हैं।

अधिक जानकारी के लिये www.coca-colacompany.com पर कोका-कोला जर्नी देखें, हमें ट्विटर पर फॉलो करने के लिये twitter.com/CocaColaCo पर जाएं, हमारा ब्लॉग कोका-कोला अनबॉटल्ड www.coca-colablog.com पर देखें या लिंक्डइन पर www.linkedin.com/company/the-coca-cola-company को क्लिक करें।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top