आप यहाँ है :

दादा गुरुदेव श्री जिनदत्त सूरि जी के भव्य स्वर्गारोहण महोत्सव की ज़ोरदार तैयारी

राजनांदगाँव। श्रमण संस्कृति की विश्व विभूति, जंगम युग प्रधान, प्रथम दादा गुरुदेव श्री जिनदत्त सूरि जी महाराज साहब का 862 वां स्वर्गारोहण महोत्सव शहर में श्रद्धा भक्ति के साथ उत्साह पूर्वक मनाया जाएगा। दादा श्री जिनदत्त सूरि सेवा संघ ट्रस्ट की दिव्य परंपरा के अनुरूप इस वर्ष भी अखिल भारतीय भक्ति गीत स्पर्धा सहित विविध भाव भक्ति पूर्ण कार्यक्रम होंगे। यह भव्य आयोजन इस वर्ष15 जुलाई को होगा।

उक्त जानकारी देते हुए आयोजन के संगठन प्रभारी और नव नियुक्त ट्रस्टी श्री प्रकाश ललवानी ने बताया कि सकल जैन श्री संघ के अध्यक्ष श्री नरेश डाकलिया और दादा श्री जिनदत्त सूरि सेवा संघ ट्रस्ट के अध्यक्ष श्री किशोर बैद, संघ के सम्मानित ट्रस्टीगण श्री तिलोकचन्द गोलछा, श्री खेमचंद जैन अधिवक्ता, श्री भीखमचन्द छाजेड़ सहित आयोजन के संरक्षकों व वरिष्ठ सदस्यों के मार्गदर्शन में कार्यक्रम की तैयारी जोर शोर से जारी है। आयोजक संस्था की तरफ से युवाओं की उत्साही टीम समर्पित भाव से आयोजन को सफल बनाने में जुटी हुई है। पूरे देश में प्रसिद्द संस्कारधानी के इस प्रतिष्ठित धार्मिक-सांस्कृतिक आयोजन को स्वनामधन्य स्व.इंदरचंद जी जैन तथा स्व.मंगलचंद जी झाबक का विशेष योगदान रहा है।

श्री ललवानी ने बताया कि राष्ट्रपति डॉ.एपीजे कलाम कमलों से पुरस्कृत तथा अलर्ट ग्रूप आफ इण्डिया, मुंबई के धर्म वीर चक्र बहुमान सहित विविध सम्मानों से अलंकृत कलमकार,प्रखर वक्ता तथा शहर के शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय के प्रोफ़ेसर डॉ.चन्द्रकुमार जैन इस वर्ष भी मुख्य समारोह का सूत्र संयोजन करेंगे। उल्लेखनीय है कि डॉ.जैन ने संघ के इस गरिमामय आयोजन तीन दशक से सराहनीय सेवा की मिसाल कायम की है। सतत 39 वें वर्ष होने जा रहे इस आयोजन को गरिमामय तैयारी ट्रस्ट द्वारा की जा रही है। लगभग दो माह से चल रहे गुरुभक्तों और संगीत मंडलियों से सतत-संपर्क संवाद का क्रम अब दूसरे दौर मैं पहुँच गया है। आयोजन की दिव्य परंपरा व गुरुदेव के उपकारों का स्मरण कर संगीत मंडलियों तथा गुरुभक्तों ने आयोजन में बड़ी संख्या में सहभागिता की भावना व्यक्त की है।

श्री प्रकाश ललवानी द्वारा प्रदत्त विस्तृत जानकारी के अनुसार15 जुलाई 2016 को स्वर्गारोहण महोत्सव के अंतर्गत श्री पार्श्वनाथ जैन बगीचे में होने जा रहे अखिल भारतीय भक्ति गीत स्पर्धा में महाराष्ट्र,मध्यप्रदेश,उड़ीसा,छत्तीसगढ़ आदि राज्यों की संगीत मंडलियों की सहभागिता रहेगी। गुरुदेव के स्वर्गारोहण दिवस पर सुबह छह बजे से गुरु इकतीसा का पाठ एवं आरती होगी प्रातः 10 बजे गुरुदेव की पूजा के साथ ही दोपहर 2.30 बजे भव्य शोभा यात्रा निकाली जायेगी। रात्रि में 8.00 बजे से जैन बगीचे में भक्ति गीत स्पर्धा शुरू होगी। दिन भर के कार्यक्रमों को रोचक बनाने के लिए इस बार धर्म प्रभावना स्वरूप विशेष लक्की ड्रा निकालने की व्यवस्था भी की जा रही है, जिसमें भाग्यशालियों को पुरस्कार दिए जायेंगे। श्री संघ एवं आयोजन समिति ने सभी गुरु भक्तों और समस्त साधार्मिकों से सभी कार्यक्रमों में सहभागी बनकर आयोजन को सफल बनाने का आह्वान किया है.

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top