आप यहाँ है :

अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी में आज डॉ. चंद्रकुमार जैन का व्याख्यान

राजनांदगांव। दिग्विजय कॉलेज के हिंदी विभाग के राष्ट्रपति सम्मानित प्राध्यापक डॉ. चन्द्रकुमार जैन, राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय, नागपुर में आयोजित त्रिदिवसीय अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी में 15 फरवरी को अतिथि व्याख्यान देंगे। भारतीय साहित्य-चिंतन और चुनौतियों पर एकाग्र इस महत्वपूर्ण सेमिनार में डॉ. जैन को अतिथि वक्ता के साथ-साथ विश्वविद्यालय परिसर में होने जा रहे विराट कवि सम्मेलन में भी विशिष्ट भूमिका के साथ आमंत्रित किया गया है। अतिथि वक्ता डॉ. जैन, भारतीय साहित्य में आधुनिक महाकाव्यों के साथ मूकमाटी के अविस्मरणीय योगदान पर विशेष चर्चा करेंगे।

उल्लेखनीय है कि डॉ. चन्द्रकुमार जैन ने अब तक विश्व हिंदी सम्मेलन सहित अनेक राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठियों में प्रभावी भागीदारी कर संस्कारधानी और प्रदेश का नाम रौशन किया है। विविध विषयों में दस उपाधियों, तीन आवृत्ति वाले यशस्वी शोध ग्रन्थ सहित दस रचनात्मक कृतियों के सृजन का यश उनके साथ जुड़ गया है। आकाशवाणी और दूरदर्शन पर शताधिक चिंतन और वार्ताओं के प्रसारण के अलावा रिसोर्स पर्सन डॉ. जैन स्तरीय साहित्यिक, सांस्कृतिक, सामाजिक और बौद्धिक मंचों पर अपनी आवाज़ और अभिव्यक्ति के निराले अंदाज़ से जाने-पहचाने जाते हैं। प्रेरक वक्ता, दक्ष प्रशिक्षक और कुशल लेखक के त्रिवेणी संगम ने डॉ. जैन को संस्कारधानी के गौरव का पर्याय बनाया वहीं बहुआयामी सामाजिक सरोकार से उन्होंने अपनी अलग पहचान बना ली है।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top