आप यहाँ है :

कोरोना से लड़ने की जिम्मेदारी के बीच हुई पिता की मौत, 24 घंटे के अंदर ही काम पर आए

भुवनेश्वर । ओडिशा के हेल्थ सेक्रेटरी निकुंज ढल ने अपने पिता की मौत के 24 घंटे के भीतर ही अपनी ड्यूटी को फिर से जॉइन कर लिया। निकुंज ओडिशा में कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए चलाए जा रहे तमाम कार्यक्रमों की निगरानी कर रहे हैं।

देश में कोरोना वायरस के प्रकोप से लोगों को बचाने की कोशिश कर रहे सरकारी तंत्र के एक अफसर ने मानवता की अनोखी मिसाल पेश की। ओडिशा सरकार की ओर से प्रदेश में कोरोना की रोकथाम के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रमों की निगरानी कर रहे हेल्थ सेक्रेटरी अपने पिता की मौत के 24 घंटे के भीतर ही फिर से ऑफिस आकर काम करने लगे। आईएएस निकुंज ढल ने ना सिर्फ अपना कामकाज संभाला, बल्कि उन तमाम इंतजामों की समीक्षा भी की जिससे कि कोरोना के कहर को रोका जा सके।

ओडिशा के प्रमुख सचिव स्वास्थ्य और आईएएस अफसर निकुंज ढल प्रदेश सरकार के अन्य अफसरों के साथ कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए प्रदेश में चलाए जा रहे तमाम कार्यक्रमों की निगरानी कर रहे है। इसके अलावा मरीजों की चिकित्सकीय व्यवस्थाओं और तमाम जिलों में जागरुकता कार्यक्रमों की निगरानी का काम भी निकुंज के जिम्मे है। इन सब के बीच ही हाल ही में निकुंज के पिता का देहांत हो गया, जिसके बाद निकुंज को अपने घर जाना पड़ा। हालांकि पिता की मौत के बावजूद स्थितियों की गंभीरता को समझते हुए निकुंज अपनी ड्यूटी पर वापस लौट आए और उन्होंने फिर से कामकाज संभाल लिया।

बताया जा रहा है कि ओडिशा सरकार ने कोरोना के कहर को देखते हुए प्रदेश के सभी संबंधित सरकारी विभागों में अफसरों की छुट्टियों को रद्द कर दिया है। सरकार की इस लड़ाई में निकुंज इस वक्त पूरी सक्रियता के साथ काम कर रहे हैं। निकुंज ना सिर्फ प्रदेश के अस्पतालों से लगातार स्वास्थ्य इंतजामों पर अपडेट ले रहे हैं, बल्कि सभी स्थानों पर सुरक्षा और लोगों की जागरुकता के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रमों की मॉनिटरिंग भी कर रहे हैं। ऐसे में अपनी जिम्मेदारियों को समझते हुए ही निकुंज ने अब अपनी ड्यूटी को फिर से जॉइन किया है।

साभार- टॉईम्स ऑफ इंडिया से

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top