आप यहाँ है :

महिला वकील ने कहा, मैने स बेशर्म न्यायाधीश को माफ किया

एक महिला ट्रेनी वकील द्वारा सुप्रीम कोर्ट के एक पूर्व जज पर यौन शोषण का आरोप लगाने के मामले की जांच करने वाली तीन जजों की समिति के समक्ष पीडि़त लड़की ने कहा है कि उसने जज को माफ कर दिया है। इस लड़की ने सोमवार को अपना बयान समिति के समक्ष दर्ज कराया था।

जस्टिस आर एम लोढ़ा की अध्येक्षता वाली समिति ने इंटर्न से करीब दो घंटे तक पूछताछ की थी। सूत्रों के अनुसार इंटर्न ने समिति को बताया कि वह यौन हमले के मामले को आगे नहीं बढ़ाना चाहती है। समिति की पूछताछ के दौरान इंटर्न ने पूर्व जज का नाम भी लिया, लेकिन उसे रिकॉर्ड पर नहीं लिया गया। इंटर्न आज फिर से समिति के समक्ष पेश होकर अपना बयान दर्ज कराएगी। समिति ने जब इंटर्न से बात को सार्वजनिक करने के बारे में पूछा तो उसने कहा कि उसका मकसद लोगों में जागरूकता फैलाना था ताकि पता लग सके कि जिन लोगों और स्थालनों को हम बहुत सम्मान से देखते हैं, वहां क्या होता है। सूत्रों ने बताया है कि आरोपी जज के एक रिश्तेमदार ने इंटर्न लड़की से मिले थे और उससे अनुरोध किया था कि यदिव वह शिकायत करेगी तो जज का करियर खराब हो जाएगा। इसलिए उन्हेंद बख्श दें।

.

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top