आप यहाँ है :

भारत गौरव ट्रेनों’ के संचालन के लिए बैठक

मुंबई। पश्चिम रेलवे पर ‘भारत गौरव ट्रेनों’ (थीम आधारित पर्यटक सर्किट ट्रेनों) को बढ़ावा देने के लिए पश्चिम रेलवे ने आईआरसीटीसी सहित यात्रा और पर्यटन उद्योग के हितधारकों के साथ एक बैठक आयोजित की। इस हेतु पश्चिम रेलवे की नोडल समिति के सदस्यों के साथ यह बैठक प्रधान मुख्य वाणिज्य प्रबंधक (पीसीसीएम) की अध्यक्षता में 10 दिसंबर, 2021 को पश्चिम रेलवे मुख्यालय, चर्चगेट में आयोजित की गई थी। पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री आलोक कंसल ने हाल ही में इस विषय पर एक कार्यशाला की अध्यक्षता की थी और संबंधित नोडल अधिकारियों को इस अवधारणा को बढ़ावा देने के लिए हितधारकों के साथ बैठक बुलाने का निर्देश दिया था|

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी श्री सुमित ठाकुर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार बैठक में मेसर्स कुलिनकुमार हॉलीडेज़, मेसर्स मल्टीलिंक, मैसर्स ट्रैवल मार्ट इंडिया तथा आईआरसीटीसी आदि जैसी कुछ इच्छुक पार्टियों ने भाग लिया। बैठक में भाग ले रही पार्टियों को बैठक की शुरुआत में योजना के लाभों और पश्चिम रेलवे पर विभिन्न संभावित पर्यटक सर्किटों से अवगत कराया गया। भारत गौरव ट्रेनों की नीति के नियमों और शर्तों पर प्रकाश डालते हुए एक विस्तृत पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन भी दिया गया। इसने योजना की मुख्य विशेषताओं जैसे कि टूर ऑपरेटरों के पास थीम, टूर पैकेज और लागत तय करने के साथ-साथ पर्यटकों को सभी समावेशी टूर पैकेज देने की स्वतंत्रता भी होगी जिसमें रेल यात्रा सहित होटल आवास, दर्शनीय स्थल आदि भी शामिल होंगे । भारत गौरव ट्रेनों की ब्रांडिंग और तीसरे पक्ष के वाणिज्यिक प्रचार के स्कोप के बारे में भी स्टेक होल्डरों को बताया गया। हितधारकों ने भारत गौरव ट्रेन अवधारणा पर अपनी बिजनेस मॉडल योजना के बारे में संक्षेप में बताया और उनके प्रश्नों पर नोडल टीम द्वारा उत्तर एवं स्पष्टीकरण दिए गए। हित धारकों के भावी प्रश्नों तथा सहायता के लिए पश्चिम रेलवे की ग्राहक सहायता इकाई का विवरण भी प्रतिभागियों के साथ साझा किया गया।

श्री ठाकुर ने आगे कहा कि ‘भारत गौरव ट्रेनें’ भारत और दुनिया के लोगों के लिए भारत की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और शानदार ऐतिहासिक स्थानों को प्रदर्शित करने के लिए पहली बार रेल मंत्रालय द्वारा शुरू की गई एक नई अवधारणा है। ये ट्रेनें विभिन्न पर्यटन सर्किटों में चलेंगी जिससे यात्रियों को भारत की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत, ऐतिहासिक और धार्मिक स्थलों की झलक मिलेगी। इस सम्बंध में विस्तृत नीति दिशानिर्देश वेबसाइट www.indianrailways.gov.in पर उपलब्ध हैं और इच्छुक सेवा प्रदाता ‘भारत गौरव ट्रेन’ शीर्षक से दिए गए लिंक पर उपलब्ध ऑनलाइन पंजीकरण सुविधाओं का उपयोग कर सकते हैं।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top