ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

यात्री सेवा समिति ने पश्चिम रेलवे के मुंबई मंडल के विभिन्न स्टेशनों का निरीक्षण किया

यात्री सेवा समिति के अध्यक्ष एवं सदस्‍यों ने पश्चिम रेलवे के मुंबई मंडल के नवसारी, बिलिमोरा, वापी, वलसाड, उधना और सूरत रेलवे स्टेशनों का दौरा कर निरीक्षण किया

यात्री सुविधा की दृष्टि से विभिन्न प्रमुख मानकों के संबंध में स्टेशनों पर उपलब्ध यात्री सुविधाओं की समीक्षा की गई।

यात्री सेवा समिति ने 6 जुलाई से 8 जुलाई, 2022 तक पश्चिम रेलवे के मुंबई मंडल के छह स्टेशनों का दौरा किया और यात्री सुविधा की दृष्टि से विभिन्न प्रमुख मानकों के संबंध में व्यापक निरीक्षण किया। समिति की अध्यक्षता यात्री सेवा समिति के अध्यक्ष श्री रमेश चंद्र रत्‍न द्वारा की गई और उनके साथ समिति के सदस्‍य श्री किशोर शानबाग और श्री यतिंदर सिंह के साथ-साथ पश्चिम रेलवे के मुंबई मंडल के वरिष्ठ रेलवे अधिकारी भी थे।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी श्री सुमित ठाकुर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार यात्री सेवा समिति ने पश्चिम रेलवे के मुंबई मंडल के छह स्टेशनों, अर्थात् नवसारी, बिलिमोरा, वापी, वलसाड, उधना और सूरत का सघन निरीक्षण किया। समिति ने व्यवस्थाओं के लिए स्टेशनों का सूक्ष्‍म जायजा लिया और यात्रियों से उनके फीडबैक के लिए संवाद भी किया। समिति को यात्रियों से सकारात्मक फीडबैक मिला तथा स्टेशनों पर सफाई और समग्र व्यवस्था के बारे में भी सराहना मिली। उन्होंने स्टेशनों पर खानपान स्टालों का दौरा किया और “नो बिल नो पेमेंट” अवधारणा की सराहना की। समिति ने वापी स्टेशन पर वन स्टेशन वन प्रोडक्ट स्टॉल का भी दौरा किया। उन्होंने स्टेशनों पर आरपीएफ चौकियों का भी निरीक्षण किया और सीसीटीवी कैमरों के संचालन की समीक्षा की। समिति ने वलसाड और उधना रेलवे स्टेशनों के सौंदर्यीकरण कार्य की सराहना की। समिति द्वारा स्टेशनों के रखरखाव और यात्रियों को बेहतर सुविधा प्रदान करने के प्रयासों के लिए पुरस्कारों की घोषणा की गई। सूरत स्टेशन पर समिति ने मीडियाकर्मियों के साथ बातचीत की और यात्रियों को बेहतर यात्रा अनुभव प्रदान करने के लिए रेलवे द्वारा शुरू किए गए विभिन्न कदमों के बारे में उन्हें जानकारी दी।

श्री ठाकुर ने आगे कहा कि इन स्टेशनों के निरीक्षण के दौरान समिति ने कुछ अनियमितताओं के बारे बताया और उन्हें जल्द से जल्द ठीक करने के निर्देश दिए। समिति ने पाया कि कुछ स्टेशनों पर फर्श असमान थे और इसे ठीक करने का निर्देश दिया गया। बिल जारी नहीं करने वाले खानपान स्टालों के साथ-साथ स्टेशनों पर उचित सफाई नहीं रखने वाले सफाई ठेकेदारों को दंडित किया गया। समिति ने रेलवे अधिकारियों को स्‍टेशन पर बैठने की पर्याप्त व्यवस्था और स्टेशनों के प्रत्येक प्लेटफॉर्म पर कम से कम 12 पंखे उपलब्ध कराने का निर्देश दिया, विशेष रूप से सूरत स्‍टेशन जहाँ बड़ी संख्या में ट्रेनें आती-जाती हैं और यात्रियों की संख्‍या भी अधिक होती है।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top