Friday, June 14, 2024
spot_img
Homeप्रेस विज्ञप्तिपुरी-गंगासागर दिव्य काशी यात्रा भारत गौरव टूरिस्ट ट्रेन का शुभारंभ 28 अप्रैल...

पुरी-गंगासागर दिव्य काशी यात्रा भारत गौरव टूरिस्ट ट्रेन का शुभारंभ 28 अप्रैल से

भारतीय रेलवे 28 अप्रैल, 2023 को “देखो अपना देश” और “एक भारत श्रेष्ठ भारत” योजना के तहत पुणे से पुरी-गंगासागर दिव्य काशी यात्रा शुरू करने के लिए तैयार है।

9 रातों/10 दिनों के दौरे में पुरी, कोलकाता, गया, वाराणसी और प्रयागराज के महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल शामिल होंगे।

यात्रियों को विभिन्न महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों जैसे जगन्नाथ मंदिर, कोणार्क मंदिर, लिंगराज मंदिर, काली बाड़ी, विष्णु पद मंदिर, काशी विश्वनाथ मंदिर आदि के दर्शन करने का भी अवसर मिलेगा।

आईआरसीटीसी इस सर्व समावेशी यात्रा की पेशकश कर रहा है जिसमें भारत गौरव ट्रेन के विशेष एलएचबी रेक में आरामदायक रेल यात्रा, ऑन-बोर्ड और ऑफ-बोर्ड भोजन, सड़क परिवहन, दर्शनीय स्थलों का भ्रमण और आवास की व्यवस्था आदि शामिल हैं।

7 स्लीपर क्लास कोच, 3 एसी-3 टियर और 1 एसी-2 टियर कोच की संरचना के साथ, आईआरसीटीसी 750 यात्रियों के लिए 3 श्रेणियों (इकोनॉमी, कम्फर्ट और डीलक्स) में टूर पैकेज की पेशकश कर रहा है।

प्रविष्टि तिथि: 23 APR 2023 3:37PM by PIB Delhi

रेल मंत्रालय ने देश के विभिन्न भागों से भारत सरकार द्वारा परिकल्पित “देखो अपना देश” और “एक भारत श्रेष्ठ भारत” की पर्यटन अवधारणाओं को बढ़ावा देने के उद्देश्य से भारत गौरव पर्यटक ट्रेनों का संचालन शुरू किया है। भारतीय रेलवे भारत को अंतरराष्ट्रीय और घरेलू क्षेत्र में एक आकर्षक गंतव्य के रूप में प्रदर्शित करने के हमेशा प्रतिबद्ध रहा है। भारतीय रेल की इन थीम-आधारित ट्रेनों की परिकल्पना घरेलू पर्यटकों के साथ-साथ अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों को भारत की समृद्ध सांस्कृतिक और धार्मिक विरासत से अवगत कराने हेतु की गई है।

भारतीय रेलवे 28 अप्रैल, 2023 को पुणे से पुरी-गंगासागर दिव्य काशी यात्रा का शुभारंभ करने हेतु तत्‍पर है, जो सनातन धर्म के तीर्थयात्रियों हेतु पूर्ण रूप से बुक है। पर्यटकों को दी जा रही 9 रातों/10 दिनों की यात्रा में पुरी, कोलकाता,गया, वाराणसी और प्रयागराज के महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों को शामिल किया जाएगा, जिसमें आगंतुकों को सबसे प्रसिद्ध मंदिरों और अन्य तीर्थ स्थानों जैसे जगन्नाथपुरी मंदिर, कोणार्क मंदिर, पुरी में लिंगराज मंदिर, कोलकाता में काली बाड़ी और गंगा सागर, गया में विष्णु पद मंदिर और बोधगया, वाराणसी में काशी विश्वनाथ मंदिर और गंगा घाट और प्रयागराज में त्रिवेणी संगम आदि देखने को मिलेगा।

आईआरसीटीसी, इस सर्व समावेशी टूर की पेशकश कर रहा है, जिसमें भारत गौरव ट्रेन के विशेष एलएचबी रेक में आरामदायक रेल यात्रा, ऑन-बोर्ड और ऑफ-बोर्ड भोजन, सड़क परिवहन और गुणवत्तायुक्‍त बसों में दर्शनीय स्थलों की यात्रा, यात्रा कार्यक्रम के अनुसार आवास की व्यवस्था, यात्रा में टूर एस्कॉर्ट्स, यात्रा बीमा, ऑन-बोर्ड सुरक्षा और हाउसकीपिंग के अलावा पर्यटकों के लिए विभिन्न ऑन-बोर्ड मनोरंजन गतिविधियों की सेवा शामिल है।

7 स्लीपर श्रेणी के कोच, थर्ड एसी, थ्री टियर और फर्स्‍ट एसी, टू टियर कोच से संयोजित, भारतीय रेलवे 3 श्रेणियों में इकोनॉमी, कम्फर्ट और डीलक्सटूर पैकेज की पेशकश कर रहा है और मुख्‍यत: इकॉनमी सेगमेंट श्रेणी में 750 यात्रियों के लिए बुकिंग की पेशकश कर रहा है।

ट्रेन की बुकिंग को अधिकतम करने के लिए पर्यटकों के लिए टूर की आकर्षक कीमत निर्धारित की है। भारतीय रेलवे सनातन धर्म के अनुयायियों का स्वागत करने के लिए पूर्ण रूप से तैयार है कि वे रमणीय आध्यात्मिक यात्रा पर जाएँ और धार्मिकता और पवित्रता के मार्ग का आनंद लें।

*

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार