Friday, June 21, 2024
spot_img
Homeप्रेस विज्ञप्तिपश्चिम रेलवे के रेल सुरक्षा बल ने रेल परिसरों में अपराधों...

पश्चिम रेलवे के रेल सुरक्षा बल ने रेल परिसरों में अपराधों में शामिल संदिग्धों को पकड़ा

मुंबई। पश्चिम रेलवे के रेल सुरक्षा बल (RPF) के जवान यात्रियों और रेलवे संपत्ति की रक्षा और सुरक्षा के लिए हमेशा आगे रहते हैं। ऑपरेशन यात्री सुरक्षा और सतर्क के अंतर्गत आरपीएफ ने यात्रियों के सामान की चोरी की घटनाओं से निपटने के साथ-साथ देश के विभिन्न हिस्सों में अवैध वस्तुओं के परिवहन के लिए राष्ट्र विरोधी ताकतों पर पैनी नजर बनाये रखने में प्रभावी योगदान दिया है। पश्चिम रेलवे के आरपीएफ ने जनवरी, 2023 में इन ऑपरेशनों पर विशेष ध्‍यान दिया, जिसके परिणामस्वरूप यात्रियों के खिलाफ अपराध के 42 मामलों का पता चला और इनसे 7 लाख रुपये से अधिक मूल्‍य की संपत्ति की बरामदगी की गई। 7.20 लाख रुपये से अधिक की जब्‍ती के साथ अवैध शराब उत्पादों के परिवहन के 31 मामलों का पता भी चला।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी श्री सुमित ठाकुर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार आरपीएफ ने क्राइम इंटेलिजेंस की मदद से उपनगरीय और लंबी दूरी की ट्रेनों में यात्रियों की सामान चोरी को रोकने के लिए विशेष प्रयास किये हैं। ऑपरेशन यात्री सुरक्षा को गति देते हुए पश्चिम रेलवे ने 3897 सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं, जिनमें 488 कैमरे इनबिल्ट फेशियल रिकॉग्निशन सिस्टम (FRS) वाले हैं, जिनमें यात्रियों के खिलाफ अपराधों को रोकने के लिए अपराधियों का विवरण और उनकी तस्वीरें होती हैं जो सिस्‍टम में अपलोड की जाती हैं। जनवरी से दिसंबर, 2022 तक पश्चिम रेलवे के आरपीएफ ने यात्रियों के खिलाफ अपराध के 553 मामलों का पता लगाया है और 1.91 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति बरामद की है।

हाल ही के एक मामले का संदर्भ देते हुए श्री ठाकुर ने बताया कि रतलाम स्टेशन पर गहन निगरानी के दौरान आरपीएफ की टीम ने ट्रेन संख्या 12962 अवंतिका एक्सप्रेस के एसी कोच से उतर रहे एक संदिग्ध व्यक्ति की पहचान की और उसे रतलाम पोस्ट पर लाया गया। पूछताछ के दौरान उसने यात्री ट्रेनों के एसी डिब्बों से पिछले 10-15 दिनों में मोबाइल फोन चोरी की हाल की दो घटनाओं को अंजाम देना स्‍वीकार किया। संदिग्ध ने अपना नाम जय किशन उम्र 20 वर्ष बताया और इस तरह के चार अन्य मामलों में चोरी का खुलासा किया। सूचना मिलने के बाद आरपीएफ-रतलाम चौकी एवं जीआरपी-रतलाम चौकी की संयुक्त टीमों ने उसके पास से 1,53,000/- रुपये मूल्य के सभी 6 मोबाइल फोन बरामद कर आगे की कानूनी कार्रवाई के लिए आरोपी को जीआरपी/रतलाम को सौंप दिया।

ऑपरेशन सतर्क के अंतर्गत पश्चिम रेलवे के आरपीएफ ने 461 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है और रेल नेटवर्क के माध्यम से कर चोरी/तस्करी/अपराध करने/आतंकी गतिविधियों के उद्देश्य से अवैध शराब एवं अन्य वस्तुओं के अवैध परिवहन के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए जनवरी से दिसंबर, 2022 तक 22.53 लाख रुपये से अधिक का सामान जब्त किया है। इसी क्रम में मुंबई व अहमदाबाद मंडल के आरपीएफ द्वारा 22 जनवरी, 2023 को शराब के अवैध परिवहन के 5 अलग-अलग विशेष मामलों का पता लगाया गया। ये मामले वापी, नंदुरबार, नायगांव, वसई रोड और अहमदाबाद स्टेशनों पर पाए गए, जहां 72,000/- रुपये से अधिक मूल्य की अवैध शराब जब्त की गई और तीन संदिग्धों को उनके संबंधित क्षेत्रों में आगे की कानूनी कार्रवाई के लिए जीआरपी पोस्ट को सौंपा गया। इनमें से तीन मामलों में जिस बैग में अवैध शराब बरामद हुई, वह लावारिस पाया गया।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार