आप यहाँ है :

पश्चिम रेलवे की लोकप्रिय गृह पत्रिका ‘रेल दर्पण’ के नवीनतम अंक का विमोचन

मुंबई। भारत के महामहिम राष्ट्रपति महोदय के हाथों भारत सरकार के गृह मंत्रालय के राजभाषा निदेशालय की महत्त्वपूर्ण पुरस्कार योजना के अंतर्गत देश की सर्वश्रेष्ठ गृह पत्रिका के राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित हो चुकी पश्चिम रेलवे की लोकप्रिय गृह पत्रिका “रेल दर्पण” के नवीनतम अंक का विमोचन शनिवार, 13 मार्च, 2021 को बधवार पार्क स्थित रेलवे ऑफिसर्स क्लब में आयोजित एक समारोह में पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री आलोक कंसल, पश्चिम रेलवे महिला कल्याण संगठन की अध्यक्षा श्रीमती तनुजा कंसल और पश्चिम रेलवे के अपर महाप्रबंधक श्री आलोक कुमार ने किया। इस अवसर पर श्री कंसल ने पत्रिका की सम्पादकीय टीम के प्रयासों की सराहना करते हुए इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि एक लोकप्रिय गृह पत्रिका के रूप में “रेल दर्पण” ने अपनी रचनात्मक उत्कृष्टता के लिए न सिर्फ अनेक प्रतिष्ठित पुरस्कार जीते हैं, बल्कि पश्चिम रेलवे की साहित्यिक प्रतिभाओं को उनकी वैचारिक अभिव्यक्ति के लिए एक सशक्त माध्यम भी उपलब्ध कराया है। इस मौके पर विभिन्न प्रधान विभागाध्यक्ष और पश्चिम रेलवे महिला कल्याण संगठन की कार्यकारिणी सदस्याओं के अलावा अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

विमोचन के अवसर पर प्रधान सम्पादक श्री ठाकुर ने नवीनतम अंक के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि यह नया अंक ‘रेल दर्पण’ का 30 वाँ अंक है। इस बार के अंक में कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान आपदा को अवसर में बदलते हुए निष्पादित प्रमुख गतिविधियों को मुख्य रूप से आधार बनाया गया है। नये अंक का आवरण पृष्ठ पर्यटन संकल्पना पर आधारित है, जिसमें पश्चिम रेलवे के प्रमुख पर्यटन स्थलों के आकर्षक और विहंगम दृश्य इस पृष्ठ की शोभा बढ़ा रहे हैं। श्री ठाकुर ने बताया कि पिछले दिनों ‘रेल दर्पण’ को मिले तीन प्रतिष्ठित पुरस्कारों सहित पश्चिम रेलवे ने अपनी सृजनात्मक उत्कृष्टता के लिए एसोसिएशन ऑफ बिज़नेस कम्युनिकेटर्स ऑफ इंडिया (एबीसीआई) की ओर से कुल सात शानदार राष्ट्रीय पुरस्कार हासिल करने की महत्त्वपूर्ण उपलब्धि अर्जित कर एक बार फिर अपनी रचनात्मक श्रेष्ठता को बखूबी साबित किया है| इन सात पुरस्कारों में रेल दर्पण’ को मिले तीन प्रतिष्ठित पुरस्कारों के अलावा पश्चिम रेलवे की प्रदर्शनी, टेबल कैलेंडर और कॉर्पोरेट फिल्म को मिले तीन पुरस्कार तथा ओवरऑल क्रिएटिव एक्सेलेंस के लिए मिली “चैम्पियन ऑफ द चैम्पियन्स” की सबसे अहम ट्रॉफी भी शामिल है।

ये प्रतिष्ठित राष्ट्रीय पुरस्कार व्यावसायिक संचार के क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए प्रति वर्ष प्रदान किये जाते हैं और अपनी सृजनात्मक उत्कृष्टता के लिए पिछले 19 वर्षों में 55 से अधिक प्रतिष्ठित राष्ट्रीय पुरस्कार जीत चुकी पत्रिका ‘रेल दर्पण’ के पुरस्कारों का शानदार सिलसिला इस वर्ष भी निरंतर जारी रहा है | इसी क्रम में पिछले दिनों सुप्रसिद्ध साहित्यिक और सांस्कृतिक संस्था ‘आशीर्वाद’ द्वारा आयोजित भव्य समारोह में भी ‘रेल दर्पण’ ने एक बार फिर सर्वश्रेष्ठ गृह पत्रिका का प्रतिष्ठित पुरस्कार हासिल कर अपनी रचनात्मक गुणवत्ता का परचम लहराया, जिसका सचित्र विवरण भी नये अंक में प्रकाशित किया गया है। पश्चिम रेलवे महिला कल्याण संगठन की अध्यक्षा श्रीमती तनुजा कंसल के नेतृत्व में पिछले दिनों सम्पन्न संगठन की अनेक उल्लेखनीय गतिविधियों का इस अंक में प्रकाशित सचित्र विवरण भी आकर्षण का प्रमुख केन्द्र है। पिछले दिनों शुरू हुई नई यात्री एवं रेल कर्मी सुविधाओं के शुभारम्भ समारोहों सहित विभिन्न प्रमुख गतिविधियों का सचित्र लेखा-जोखा ‘सामयिक गतिविधियाँ’ में प्रकाशित किया गया है, वहीं युगपुरुष महात्मा गांधीजी की 151 वीं जयंती के ऐतिहासिक वर्ष के उपलक्ष्य में एक विशेष काव्य रचना ‘गांधीजी और रेल का रिश्ता’ के ज़रिये उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि दी गई है। इनके अलावा व्यंग्य-वीथिका, कथा-कुंज, सखियों का संसार, खेल-खिलाड़ी और स्वास्थ्य चर्चा सहित सभी नियमित स्तम्भ भी ‘रेल दर्पण’ के नये अंक में भी मौजूद हैं। साथ ही विशेष अतिथि रचनाकार के लोकप्रिय स्तम्भ की महफिल में इस बार मशहूर शायर श्री सुरेन्द्र चतुर्वेदी ने अपनी दमदार ग़ज़लों के ज़रिये शिरकत की है। अंग्रेजी खंड में इस बार मुलाकात होगी मशहूर अभिनेता श्री जॉन अब्राहम से, वहीं स्पेशल फीचर के रूप में पाठक रूबरू होंगे पश्चिम रेलवे पर डिजिटल भुगतान की राह पर सुनिश्चित की गई महत्त्वपूर्ण पहलों के शानदार सफ़र से … ! नये अंक में प्रादेशिक भाषा मराठी को समर्पित स्तम्भ ‘माय मराठी’ का सिलसिला भी लगातार जारी रखा गया है।

उन्होंने बताया की इस पत्रिका का ई-संस्करण पश्चिम रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट www.wr.indianrailways.gov.in. पर भी उपलब्‍ध है। पत्रिका के विमोचन समारोह के अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया।

फोटो कैप्शन- पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री आलोक कंसल, पश्चिम रेलवे महिला कल्याण संगठन की अध्यक्षा श्रीमती तनुजा कंसल और पश्चिम रेलवे के अपर महाप्रबंधक श्री आलोक कुमार ‘रेल दर्पण’ के नवीनतम अंक का विमोचन करते हुए। उनके साथ पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी एवं प्रधान सम्पादक श्री सुमित ठाकुर भी दिखाई दे रहे हैं।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top