ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

श्री अनिल कुमार लाहोटी ने पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक का अतिरिक्‍त कार्यभार ग्रहण किया

मध्‍य रेल के महाप्रबंधक श्री अनिल कुमार लाहोटी ने मंगलवार, 1 फरवरी, 2022 को पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक का अतिरिक्‍त कार्यभार ग्रहण कर लिया है।

श्री लाहोटी ने आईआईटी रुड़की (पूर्व रुड़की विश्वविद्यालय) से मास्टर ऑफ इंजीनियरिंग (स्ट्रक्चर) की डिग्री प्राप्‍त की है। वे भारतीय रेलवे सेवा इंजीनियर (IRSE) के 1984 बैच के वरिष्ठ अधिकारी हैं। श्री अनिल कुमार लाहोटी को रेलवे में विविध पदों पर कार्य करने का गहन अनुभव प्राप्त है। इन्होंने मध्य रेल से अपनी रेल सेवा शुरु की और नागपुर, जबलपुर (अब पश्चिम मध्य रेलवे पर) और भुसावल मंडल और मध्य रेल मुख्यालय में 1988 से 2001 तक विभिन्न पदों पर काम किया है। इन्होंने सदस्य इंजीनियरिंग, रेलवे बोर्ड के विशेष कार्यकारी अधिकारी, मुख्य इंजीनियर (निर्माण), उत्तर रेलवे, कार्यकारी निदेशक (ट्रैक मशीन), रेलवे बोर्ड और उत्तर मध्य रेलवे के प्रधान मुख्य इंजीनियर के रूप में भी काम किया है। मध्‍य रेल के महाप्रबंधक का कार्यभार संभालने से पूर्व श्री लाहोटी उत्‍तर रेलवे में मुख्‍य प्रशासनिक अधिकारी (निर्माण) के पद पर कार्यरत थे।

आपने नई दिल्ली स्टेशन को विश्व स्तरीय स्टेशन के रूप में विकसित करने की योजना बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है, जिसमें भूमि और एअर स्‍पेस का वाणिज्यिक विकास और सार्वजनिक निजी भागीदारी मॉडल का विकास शामिल है। आपने दिल्ली में भीड़भाड़ कम करने के लिए आनंद विहार में दिल्ली में एक नए दिशात्मक टर्मिनल तथा नई दिल्‍ली स्‍टेशन के महत्‍वपूर्ण द्वितीय प्रवेशद्वार की योजना बनाई और निर्माण किया। मुख्य प्रशासनिक अधिकारी (निर्माण), मुख्य इंजीनियर (निर्माण) के पदों पर कार्य करते हुए आपने नई रेल लाइनों, दोहरीकरण, यार्ड रिमॉडलिंग औऱ महत्वपूर्ण पुलों के निर्माण जैसी ढांचागत परियोजनाओं का क्रियान्‍वयन किया।

श्री अनिल कुमार लाहोटी, रेलवे बोर्ड के कार्यकारी निदेशक सिविल इंजीनियरिंग (योजना) के रूप में संरक्षा, रखरखाव, पुनर्वास और स्थायी मार्ग के उन्नयन, उच्च एक्‍सल भार और ट्रैक पर उच्च गति के संचालन पर नीति तैयार करने वाली टीम का हिस्सा रहे हैं। ट्रैक रखरखाव मानदंडों पर समिति के सदस्य के रूप में, ट्रैक रखरखाव व्यवस्था को कुशल और प्रभावी बनाने के लिए इलेक्ट्रॉनिक ट्रैक माप के आधार पर ट्रैक रखरखाव के लिए उद्देश्य रखरखाव मानदंड पर एक उद्देश्य नीति विकसित करने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका थी। उन्होंने ट्रैक रखरखाव के मशीनीकरण और स्वचालन में बड़े पैमाने पर काम किया है और भारतीय रेलवे पर ट्रैक रखरखाव के पूर्ण मशीनीकरण के लिए एक व्यापक मास्टर प्लान तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। मंडल रेल प्रबंधक, लखनऊ के रूप में, इन्होंने लखनऊ मंडल पर यात्री और माल ढुलाई संचालन और बुनियादी ढांचे के उन्नयन से संबंधित कई चुनौतियों का सामना किया।

श्री अनिल कुमार लाहोटी ने इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस, हैदराबाद से स्ट्रेटेजिक प्रबंधन, बोकोनी स्कूल ऑफ मैनेजमेंट, मिलान, इटली से एक्सक्यूटिव लीडरशिप प्रोग्राम, कार्नेगी मेलॉन विश्वविद्यालय, यूएसए से एडवांस लीडरशिप एंड स्ट्रेटेजिक मैनेजमेंट प्रोग्राम और कॉन्ट्रैक्टलेस ट्रैक रिकॉर्डिंग में प्रशिक्षण प्राप्त किया है। आपने विभिन्न शासकीय कार्यों से अमेरिका, जर्मनी, इंग्‍लैंड, स्विट्जरलैंड, ऑस्ट्रिया, इटली, हांगकांग, जापान एवं चीन की यात्रा की है।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top