Wednesday, May 29, 2024
spot_img
Homeआपकी बातहँसते मुस्कराते फूल व फलदार पेड़ दे रहे सकारात्मक ऊर्जा का संदेश

हँसते मुस्कराते फूल व फलदार पेड़ दे रहे सकारात्मक ऊर्जा का संदेश

गर्मी का मौसम शुरू हो चुका है गर्मी अपने परवान पर है कहि जगह तापमान 40डिग्री तक पहुंच गया है। कोरोना वायरस के कारण गत लगभग एक माह से विद्यालयों में छात्रों के लिए अवकाश घोषित किया हुआ है । विद्यालयों में कोरोना सम्बन्धित परिवार वार सर्वे व इससे सम्बन्धित कार्यो से अध्यापक जी उपस्थिति दे रहे हैं । काम के बाद जब वे वापस विद्यालय आते है तो समय को पेड़ पौधों की देखभाल में लगा रहे है । ऐसी भीषण गर्मी में पौधे सूख ना जाये इसका भी प्रयास रखा जा रहा है ।

रा उ प्रा वि ठिकरिया की यह स्थिति है जहां स्टाफ ने प्रयास कर फूल व फल दार पौधे विद्यालय में लगा रखे है । भीषण गर्मी से बचाना उनका लक्ष्य है ।क्योकि स्वयम के लगाए हुए पौधे है अपनापन सा उनसे हो गया है । अब पेड़ पौधे उन्हें अपने परिवार का सदस्य सा नजर आते है । समय का सदुपयोग करते हुए उनमें पानी दिया जा रहा है , लक्ष्य यह है कि जहां तक सम्भव हो वे सूखे नही । स्टाफ का प्रयास भी सफल हो रहा है आज विद्यालय के पेड़ पौधे फल व फूलों से लदे हुए हैं ।

अध्यापक श्री संजय कुमार जैन ने बताया कि आज विद्यालय में लगे पौधों में गुलाब , कनेर , मोगरा, बारहमासी, व कहि अन्य प्रकार के फूल खिल खिलाकर सबको मुस्कराने का संदेश दे रहे है । वे मानो कह रहे है कि जिस प्रकार हम भीषण गर्मी में भी आपके प्रयासों से अपने आप को बचाये हुए हैं और अपनी मुस्कराहट से सकारात्मक ऊर्जा का संदेश दे रहे है उस प्रकार आप लोग भी केरोना वायरस से राज्य व केंद्र सरकार द्वारा दिये गए निर्देश की पालना कर सुरक्षित रखें । बात मानकर वैसा ही करने से, सोशल डिस्टेंस रखने, घरों में ही रहने , पर्याप्त दूरी रख व मुह पर कपड़ा बांधकर रखने से स्वयम को बचाये रखा जा सकता है । जैसे हमारे लिए पानी जरूरी है वैसे ही आपके लिए दिए गए निर्देश की पालना महत्वपूर्ण है ।

आओ हम इन पौधों से ही सीखे की किस प्रकार अभावों में रहकर भी अपने आपको सुरक्षित रखा जा सकता है ।

विद्यालय स्टाफ के प्रयासों से आज विद्यालय में केरी के पेड़ पर छोटी छोटी केरिया, जामुन व अनार के पेड़ पर फूल व फल, नीबू, अमरूद , करूँदे , शहतूत ,पर हजारों की संख्या में फल लगे हुए है । समय आने पर आंवले के पेड़ों पर बहुत बड़ी मात्रा में आंवले भी लगेंगे ।

संदेश – मेरा सभी साथियों से निवेदन है कि आपके विद्यालय में भी यह सब पेड़ -पौधे होंगे और आप भी उन्हें पानी देकर बचा रहे होंगे । आपका प्रयास व फूलों का खिलना निश्चित रूप से आपको सकारात्मक ऊर्जा व प्रसन्नता का भाव प्रधान करेगा ।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार