Friday, May 24, 2024
spot_img
Homeमीडिया की दुनिया सेचार भाषाओं में एक वेब साईट

चार भाषाओं में एक वेब साईट

देश-दुनिया की ताजातरीन खबरों को लोगों तक पहुंचाने के लिए एक और नया न्‍यूज पोर्टल ‘www.newzviewz.com’ लॉन्‍च हुआ है। बताया जाता है कि यह पहला ऐसा न्‍यूज पोर्टल है जो चार भाषाओं इंग्लिश, हिन्‍दी, गुजराती और संस्‍कृत में लॉन्‍च हुआ है।

चार भाषाओं में लॉन्‍च होने के अलावा इस न्‍यूज पोर्टल की एक और खासियत यह है कि यह आपको प्रत्‍येक न्‍यूज सिर्फ 60 शब्‍दों में देता है। ऐसे में आप सिर्फ एक मिनट में स्‍थानीय से लेकर ग्‍लोबल न्‍यूज तक पढ़ सकते हैं। इस पोर्टल की न्‍यूज को आप अपने कंप्‍यूटर, टैब और मोबाइल फोन से प्राप्‍त कर सकते हैं।

पोर्टल को इस तरह डिजाइन किया गया है जिससे आप हेडलाइनंस से लेकर उस दिन की बड़ी खबरों को भी आसानी से तलाश सकते हैं। इसमें भी आपको गुड न्‍यूज, बैड न्‍यूज, पॉलिटिक्‍स, सिटी लाइफ, रूरल इंडिया, वर्ल्‍ड टू बिजनेस, स्‍पोर्ट्स, ऐंटरटेनमेंट, यूजफुल न्‍यूज आदि कैटेगरी की खबरों के लिए ज्‍यादा परेशानी नहीं होना पड़ेगा और आप उन्‍हें आसानी से खोजकर पढ़ सकते हैं।

यही नहीं, इस न्‍यूज पोर्टल में आपको एडिटर बनने का मौका भी मिलता है। कहने का मतलब यह है कि आप इसमें अपनी पसंद की न्‍यूज का चुनाव कर सकते हैं और बतौर गेस्‍ट एडिटर इस न्‍यूज को आप अपने ग्रुप में अपने नाम से भेज सकते हैं।

इस न्‍यूज पोर्टल के एडिटर धीमंत पुरोहित हैं, जिन्‍हें प्रिंट, टीवी और डिजिटल मीडिया का तीस वर्षों का अनुभव है। वह गुजरात में ‘आज तक’ के ब्‍यूरो चीफ के रूप में भी काम कर चुके हैं। गुजरात में वर्ष 2001 में आए विनाशकारी भूकंप और गुजरात में ही वर्ष 2002 में हुए दंगों में बेहतरीन कवरेज के लिए टीवी न्‍यूज दर्शक धीमंत को आज भी याद करते हैं।

यही नहीं, वह ‘Prime Minister Narendra Modi’ नाम से किताब भी लिख चुके हैं और ‘Kailas Mansarovar’ किताब के संपादक हैं। इसके अलावा वह राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी पर बनी डॉक्‍यूमेंट्री फिल्‍म ‘Sabarmati Ke Sant’ का निर्देश भी कर चुके हैं।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार