आप यहाँ है :

कैनडिस याकोनो
 

  • प्रिया सेठः कैमरे के पीछे जद्दोजहद करता एक मासूम चेहरा

    प्रिया सेठः कैमरे के पीछे जद्दोजहद करता एक मासूम चेहरा

    इस साल इतिहास में पहली बार किसी महिला सिनेमाटोग्राफर रैचल मॉरीसन को नेट़िफ्लक्स की फिल्म ‘‘मडबाउंड’’ के लिए ऑस्कर पुरस्कारों की नामांकन सूची में शामिल किया गया। सिनेमाटोग्राफी का अर्थ है फिल्म के दृश्य और यह कि उन्हें कैमरे और लाइटिंग की मदद से कितनी खूबसूरती के साथ कैद किया गया है। ऑस्कर पुरस्कारों की फेहरिस्त में यही तकनीकी श्रेणी थी जिसमें अभी तक

  • हर्वा बदल रहा है गाँवों की हवा

    हर्वा बदल रहा है गाँवों की हवा

    चतुर्वेदी कहते हैं, “इस शताब्दी के शुरुआत में मैं जब भी भारत की यात्रा पर आता तो मुझे शहरी भारत में गरीबी की बड़ी खाई देखने को मिलती- ट्रैफिक सिगनलों पर भीख मांगते भिखरी, बेघर लोग, लेकिन साथ ही आकाश छूती इमारतें, भव्य शॉपिंग मॉल और जबर्दस्त लग्ज़री! बाज़ार का वाकई उदारीकरण हो चुका था। ”

Get in Touch

Back to Top