Wednesday, May 29, 2024
spot_img
Homeसोशल मीडिया सेकृष्णा के पीछे दौड़ रहे हैं बोल्ट, चित्रकार कृष्णा की फोटो शॉप...

कृष्णा के पीछे दौड़ रहे हैं बोल्ट, चित्रकार कृष्णा की फोटो शॉप फोटो छाई सोशल मीडिया में

नई दिल्ली। कर्नाटक में आयोजित एक वार्षिक भैंस दौड़ कंबाला में रिकॉर्ड स्पीड से दौड़ने वाले श्रीनिवास गौड़ा आज देश के नए उभरते हुए सितारे बन गए हैं। उन्होंने 100 मीटर की दौड़ को महज 9.55 सेकंड में पूरा कर रिकॉर्ड रच दिया, जबकि वह दो भैंसों के साथ दौड़ रहे थे। बताते चलें कि बोल्ट वर्तमान में दुनिया के सबसे तेज धावक हैं, जिनका रिकॉर्ड 9.58 सेकंड में 100 मीटर की दौड़ का है। यानी श्रीनिवास ने बोल्ट को भी पीछे छोड़ दिया। इस मामले के सामने आने के बाद चित्रकार कृष्णा ने एक बेहतरीन फोटोशॉप इमेज बनाई है, जिसमें उन्होंने बोल्ट को श्रीनिवास से पीछे दौड़ते हुए दिखाया है।

चित्रकार कृष्णा की बनाई इमेज सोशल मीडिया में वायरल हो रही है। उधर, ग्रामीणों का कहना है कि श्रीनिवास दौड़ में जमैका के उसेन बोल्ट को पीछे छोड़ सकते हैं, जिन्हें दुनिया का सबसे तेज धावक माना जाता है। गौड़ा ने कथित तौर पर इस साल 12 कंबाला प्रतियोगिताओं में 29 पुरस्कारों को जीता है। खबरों के मुताबिक, 28 वर्षीय श्रीनिवास ने 9.55 सेकंड में 100 मीटर की दूरी तय की, जो बोल्ट से 100 सेकंड की दौड़ में विश्व का रिकॉर्ड बनाने वाले बोल्ट से तेज है।

उल्लेखनीय है कि ट्विटर पर श्रीनिवास गौड़ा के धान के खेत में भैंस के साथ 13.62 सेकंड में 142.5 मीटर की दौड़ को पूरा किया था। इसके बाद उनके प्रदर्शन की वीडियो क्लिप सोशल मीडिया में वायरल होने लगी थी। ट्विटर यूजर्स भी कह रहे हैं कि उनकी टाइमिंग इंटरनेशनल एथलीट उसेन बोल्ट से भी ज्यादा तेज थी। इसके जवाब में गौड़ा ने कहा कि लोग मेरी तुलना उसैन बोल्ट से कर रहे हैं। वह एक विश्व चैंपियन हैं, मैं धान के खेत में दौड़ रहा हूं।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार