ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

दिल्ली पुलिस ने रिपोर्ट नहीं लिखी, फेसबुक पर डाला मनचले का फोटो

दिल्ली के तिलक नगर में रहने वाली एक लड़की ने रविवार रात अपने साथ हुई छेड़खानी की वारदात के बाद मनचलों को अच्छा सबक सिखाया है। लड़की की सूचना पर जब पुलिस ने कोई सक्रियता नहीं दिखाई तब उस लड़की ने आरोपी की तस्वीर के साथ अपने साथ हुई वारदात का पूरा ब्यौरा फेसबुक पर डाल दिया। उसकी इस पोस्ट को 7000 लोगों ने उसकी पोस्ट शेयर की जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने एफआईआर दर्ज की। इसके साथ ही दिल्ली पुलिस ने बहादुरी दिखाने वाली पीड़िता को 50,000 रुपये का इनाम देने की भी घोषणा की है।

इससे पहले रविवार रात जब छेड़छाड़ पीड़िता आरोपी की फोटो तक लेकर पुलिस के पास कार्रवाई के लिए गई तो जवाब मिला, ‘मैडम घणी रात होगी, इब कल आना।’ जिसके बाद डीयू की छात्रा ने फेसबुक पर आरोपी की फोटो डालकर न्याय की गुहार लगाई थी।

आफको बता दें कि रविवार रात तिलकनगर इलाके के अग्रवाल चौक पर रात 8.30 मनचले युवक ने दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा से छेड़छाड़ की। विरोध करने पर उसने छात्रा को जान से मारने की धमकी भी दी। दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा अपनी शिकायत लेकर तिलकनगर थाने में पहुंची।

वह आरोपी का फोटो भी अपने मोबाइल फोन में खींचकर लाई थी। यहां दिल्ली पुलिस ने अपनी संवदेनहीनता का परिचय देते हुए उसे घर भेज दिया। छात्रा के मुताबिक, दिल्ली पुलिस की पीसीआर वैन ने मामूली लिखा-पढ़ी कर पीड़िता को मौके से टरका दिया और सुबह आने के लिए कहा।

फेसबुक पर आरोपी की फोटो अपलोड कर लगाई मदद की गुहार

अब पीड़ित छात्रा ने सोशल मीडिया के जरिये लोगों से मदद की अपील की है। पीड़ित छात्रा ने टालमटोल करने वाले जांच अधिकारी दया कृष्णन की नाकामी को दरकिनार करते हुए आरोपी की फोटो फेसबुक पर अपलोड कर न्याय की गुहार लगाई है।

दिल्ली पुलिस के नकारेपन का इससे बड़ा सुबूत और क्या हो सकता है कि युवती ने अपने मोबाइल फोन से उस आरोपी युवक की फोटो भी उपलब्ध करवाई। बावजूद इसके कार्रवाई करने के पुलिस ने उस छात्रा को सुबह आने के लिए कह दिया। हालांकि, पुलिस चाहती तो फोटो के आधार पर उस आरोपी युवक को पकड़ सकती थी।

छात्रा को मिला स्वाति मालीवाल का समर्थन

छेड़छाड़ पीड़ित डीयू छात्रा के समर्थन में दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल भी उतर आई हैं। स्वाति मालीवाल सोमवार की सुबह पीड़ित छात्रा से मुलाकात करने पहुंची। इसके बाद उन्होंने कहा कि यह ‘शर्मनाक’ है कि कोई उस युवती की मदद के लिए आगे नहीं आया।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top