Wednesday, May 29, 2024
spot_img
Homeमीडिया की दुनिया से‘जी न्यूज बिहार-झारखंड’ के संपादक बने वरिष्ठ पत्रकार व लेखक स्वयं प्रकाश

‘जी न्यूज बिहार-झारखंड’ के संपादक बने वरिष्ठ पत्रकार व लेखक स्वयं प्रकाश

हिंदी रीजनल न्यूज चैनल ‘जी न्यूज बिहार-झारखंड’ ने वरिष्ठ पत्रकार व लेखक स्वयं प्रकाश को अपना एडिटर नियुक्त किया है। इसके पहले तक वे दैनिक भास्कर के साथ जुड़े हुए थे और राजस्थान में वे इसके कई संस्करणों के साथ रहे। उन्होंने जी के साथ पारी शुरू कर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की ओर भी अपना पहला कदम बढ़ा दिया है, क्योंकि उन्हें इससे पहले प्रिंट और डिजिटल का अनुभव था।

उन्हें विभिन्न अखबारों के कई नए संस्करण शुरू कराने और उसे शीर्ष तक पहुंचाने का का श्रेय जाता है। उन्होंने न केवल उदयपुर में भास्कर का सफलतापूर्वक संचालन किया, बल्कि भीलवाड़ा में भी नए संस्करण में अपना योगदान दिया।

दैनिक भास्कर से पहले वे ‘हैलो बिहार’ नाम के डिजिटल वेंचर के साथ जुड़े हुए थे, जहां वे चीफ एडिटर के तौर पर कार्यरत थे। वे यहां 30 जनवरी, 2017 से 30 नवंबर, 2017 तक रहे। इसके पहले वे हिंदी दैनिक ‘हिन्दुस्तान’ के पटना एडिशन में कोऑर्डिनेटिंग एडिटर के तौर पर कार्यरत थे। वे यहां प्रभात खबर से इस्तीफा देकर पहुंचे थे। प्रभात खबर के पटना एडिशन में वे स्थानीय संपादक के तौर पर कार्यरत थे।

स्वयं प्रकाश की अब तक दो किताबे प्रकाशित हो चुकी हैं। उनकी पहली किताब आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर की जीवनी पर आधारित ‘जीना सीखा दिया’ है।

स्वयं प्रकाश ने फेसबुक पर अपनी नई पारी के बारे में लिखा-
ज़ी न्यूज़ में आज से एक नई शुरुआत। बतौर संपादक बिहार। ज़ी न्यूज़ के बिहार झारखंड, ज़ी कलिंगा, ज़ी 24 घंटा के चैनल हेड श्री पुरुषोत्तम वैष्णव जी इसीलिए दिल्ली से आये थे। उनके निर्देशन में ज़ी न्यूज़ बिहार नए कीर्तिमान गढ़ेगा। हमें पहले दिन ही काफी ज्ञानवर्धक बातें वैष्णव जी से सीखने को मिलीं। वे मेरे टी वी पत्रकारिता के गुरू हुए।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार