Monday, June 17, 2024
spot_img
Homeसोशल मीडिया सेफेसबुक - झमेलों से कैसे बचें ?

फेसबुक – झमेलों से कैसे बचें ?

आजकल फेस बुक पर भी लोगों को तरह – तरह की परेशानियाँ सामने आ रही हैं । फेसबुक को ठगने, परेशान करने  से लेकर अपराध तक के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है।
इसे लेकर हमने सूचना-प्रौद्योगिकी विशेषज्ञ व भाषा – प्रौद्योगिकीविद बालेन्दु शर्मा दाधीच से मार्गदर्शन प्राप्त किया जो निम्नवत है?- 

फ़ेसबुक पर ऐसे मित्रता-अनुरोध स्वीकार न करें तो बेहतर-
मित्रता अनुरोध आने पर पहले संबंधित व्यक्ति के फ़ेसबुक प्रोफाइल पर जाकर एक नज़र ज़रूर डालें। ऐसे व्यक्तियों के मित्रता अनुरोध स्वीकार करने से बचें-
1. जो आपके परिचित न रहे हों और इतना ही नहीं, आपके किसी परिचित के भी परिचित न हों। यानी किसी भी मित्र के मित्र न हों।
2. जिन्होंने अपना प्रोफ़ाइल चित्र न लगाया हो, यानी जो अपनी पहचान छिपाना चाहते हों। जो प्रोफाइल चित्र के स्थान पर किसी सेलिब्रिटी का, फूल या किसी वस्तु का, ढंके हुए चेहरे का, या पीछे से लिए गए चित्र आदि का प्रयोग करते हों।
3. जिनके मित्रों की संख्या बहुत ही कम हो (5-7) या न हो।
4. जिन्होंने अभी-अभी फ़ेसबुक प्रोफाइल बनाया हो।
5. जिनके फेसबुक पेज पर कोई टिप्पणी न हो। (क्योंकि उनका उद्देश्य टिप्पणी करना है ही नहीं)।
6. जिनकी फोटो गैलरी में कोई फोटो न हो, संभवतः पहचान छिपाने के लिए। कुछ लोग कैमरा न होने के कारण भी चित्र नहीं लगा पाते। यहाँ अपने विवेक का प्रयोग करें।
7. जिनके फ़ेसबुक पेज पर दी गई टिप्पणियाँ आपत्तिजनक हों। गाली-गलौच की भाषा इस्तेमाल करते हों या अश्लील टिप्पणियाँ/सामग्री प्रयोग करते हों।
8. धार्मिक कट्टरपंथी हों और फेसबुक का प्रयोग इसीलिए करते हों।
9. जिनके साथ आपकी मित्रता का कोई आधार न हो।
10. जो विदेशी हों और आप समझ न पाएँ कि उन्हें आपसे मित्रता करने में क्या दिलचस्पी हो सकती है।
मित्र बनाने के बाद भी यदि कोई शख्स आपके या आपके मित्रों के साथ, या आपकी सामग्री के साथ गलत हरकत करता है तो उसे Unfriend करने में जरा भी संकोच न करें।
ज़रूरत समझें तो गलत व्यक्तियों के बारे में Facebook को सूचित करें ताकि वे किसी अन्य को अपना निशाना न बनाएँ।

बंधुवर बालेन्दुजी से हमने विशेषरूप से पूछा कि पिछले कुछ समय से ऐसी घटनाओं में तेजी से वृद्धि हुई है जिसमें कुछ अश्लील, आपत्तिजनक वीडियो  या चित्र किसी के भी फेसबुक से किसी के फेसबूक मित्रों को चले जाते हैं और उन्हें शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है । जिनका नाम आता है उन्हें बदनामी और मानसिक परेशानी का सामना करना पड़ता है ।किसी ने बताया कि यह एक प्रकार का वायरस होता है जिसके चलते वीडियो  या चित्र को हटाना भी संभव नहीं हो पाता  क्योंकि उसमें डिलिट की सुविधा नहीं होती । पिछले 10-15 दिनों में ऐसी घटनाओँ में तेजी आई है । कृपया बताएँ कि इसके लिए क्या सावधानी बरतें ? इस संबंध में हमारा मार्गदर्शन करें ताकि लोगों को इस समस्या से बचाया जा सके। 
उन्होंने बताया:- 

– फेसबुक का पासवर्ड बदलकर कोई मजबूत पासवर्ड बना लें, जिसमें कैपिटल और स्माल लैटर्स के साथ-साथ अंक भी हों। ताकि आपका अकाउंट हैक न हो सके।

– कंप्यूटर में अच्छा एंटी-वायरस और एंटी-स्पाइवेयर (नॉर्टन, क्विकहील आदि) इन्स्टाल कर लें।

– कोई आपको टैग न कर सकें यह व्यवस्था फेसबुक की सिक्योरिटी सेटिंग्स में जाकर कर दें।

– कमेंट, मैसेज आदि का अधिकार सिर्फ मित्रों तक सीमित कर दें।

– फेसबुक एप्स, गेम्स आदि से बचें। बेहतर है, इस्तेमाल ही न करें और यदि पहले किए हुए हैं तो उन्हें हटा दें।  

– ऐसे किसी भी लिंक पर क्लिक न करें जो किसी अनजान व्यक्ति ने भेजा है, अजीब है या फिर जिसमें आपको लुभाने का प्रयास किया गया है (यह कहकर कि इसे जरूर देखिए आदि आदि..)


संपर्क​
​वैश्विक हिंदी सम्मेलन की वैबसाइट –www.vhindi.in
'वैश्विक हिंदी सम्मेलन' फेसबुक समूह का पता-https://www.facebook.com/groups/mumbaihindisammelan/
संपर्क – [email protected]

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार