Friday, May 24, 2024
spot_img
Homeखेल की दुनिया"सच कहूँ तो मुझे भुवी की बैटिंग ज्यादा पसंद है" नूपुर नागर

“सच कहूँ तो मुझे भुवी की बैटिंग ज्यादा पसंद है” नूपुर नागर

ऐसे कई कारण होते हैं जिनकी वजह से बचपन के प्यार की तुलना आज के इस संवेदनशील युग में भी वाकई नहीं की जा सकी। भारत के तेज गेंदबाज़ भुवनेश्वर कुमार और उनकी पत्नी नूपुर नागर ऐसे ही एक युगल जोड़ी हैं– उनका रिश्ता आपको गंभीरता का एहसास कराएगा। चाहे उनकी मस्ती भरी चुहल हो, उनकी जबरदस्त केमेस्ट्री या फिर यह कि सिर्फ तेरह साल उम्र से ही वे एक दूसरे को पसंद करते थे।

क्रिकबज़ (Cricbuzz) के नए सीरीज़ स्पाइसीपिच के बिदांस वेबिसोड में भुवी और नूपुर ने बताया कि कौन सी बात उनके रिश्ते को बेहद खास बनाती है। ये दोनों ही मेरठ से। बचपन के दोस्त और पड़ोसी भी रहे हैं। घंटों तक एक दूसरे के साथ स्टैपू जैसे खेल खेला करते थे। जैसा कि अक्सर बचपन की माशूकाओं के साथ होता है, नूपुर अपने रिश्ते को “भाई और बहन” का रिश्ता समझती थीं जबकि भुवि को उस समय से ही नूपुर से प्यार था।

बचपन के दोस्त धीरे– धीरे दूर होते चले गए– भुवी अपने क्रिकेट और नूपुर कॉलेज की पढ़ाई में व्यस्त हो गईं– साल में एक– दो बार ही वे एक दूसरे से मिल पाते। फिर वे फेसबुक पर मिले और इस तरह उनका रिश्ता प्रेम के अटूट डोर में बदल गया।

आज, भुवी और नूपुर एक नवविवाहित जोड़े की तरह कम और बेस्ट फ्रेंड्स जैसे अधिक दिखते हैं। हाँ ये बात जरूर है कि नूपुर घर में भुवी की फैलाई गंदगी से दुखी हो जाती हैं, कैरम और डम शरैड के हर गेम में भुवी के चीट करने की शिकायत करती हैं– फिर भी ये दोनों ही मस्ती–पसंद और खुश रहने वाले शख्सियत हैं।

नूपुर भुवी को यह कहते हुए छेड़ती हैं कि, “सच कहूँ तो मुझे इनकी बॉलिंग से ज्यादा बैटिंग देखने में मज़ा आता है।” इस पर भुवी कहते हैं, “जब भी मैं बल्लेबाज़ी करने उतरता हूँ तब याद रखता हूँ कि मुझे एक अच्छी इनिंग खेलनी है नहीं तो मेरी बीवी मुझसे नाराज़ हो जाएगी।”

दोनों सिर्फ मस्ती या खेल के ही साथी नहीं है, बल्कि मुश्किल समय में भी एक दूसरे के साथ खड़े रहते हैं। नूपुर बताती हैं, “जब भी भुवी कभी बड़ी परेशानी से गुजर रहे होते हैं, चाहे वह उनकी हैमस्ट्रिंग इंजरी हो या कुछ और, मुझे हमेशा ही उनसे अधिक चिंता होती है। सच कहूँ तो, मैं इतना परेशान हो जाती हूँ कि ये मेरा मन बहलाना शुरु कर देते हैं क्योंकि उन्हें मुझे खुश देखना होता है।”

यह जोड़ा एक–दूसरे के बारे में कैसा महसूस करता है और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के दबाव के दौरान भी वे कैसे अपने रिश्ते में तालमेल बना के रखते हैं। ये सब और भी बहुत कुछ, जानने के लिए, यह वेबिसोड इस शनिवार, इक्कीस मार्च को क्रिकबज़ पर देखें।

लिंक: Spicy pitch Episode-6 Bhuvneshwar kumar

Attachments area

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार