Saturday, July 13, 2024
spot_img
Homeश्रद्धांजलिएमसीयू के प्राध्यापक डॉ. अनुराग सीठा का दु:खद निधन

एमसीयू के प्राध्यापक डॉ. अनुराग सीठा का दु:खद निधन

भोपाल। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के प्राध्यापक डॉ. अनुराग सीठा के निधन का अत्यधिक दुःखद समाचार है। वे पिछले कुछ दिनों से कोरोना महामारी से लड़ रहे थे। इलाज के दौरान निजी अस्पताल में उनका दुर्भाग्यपूर्ण निधन हुआ।

कुलपति प्रो. केजी सुरेश ने श्रद्धांजलि व्यक्त करते हुए कहा कि डॉ. सीठा का जाना विश्वविद्यालय ही नहीं, बल्कि कंप्यूटर एवं तकनीक शिक्षा क्षेत्र की अपूरणीय क्षति है। मातृभाषा हिंदी में कंप्यूटर शिक्षा के प्रसार में उनका अविस्मरणीय योगदान है। इस हेतु मध्यप्रदेश सरकार ने उनका सम्मान भी किया है। उल्लेखनीय है कि 14 सितंबर, 2018 को हिंदी दिवस के अवसर पर मध्यप्रदेश सरकार के संस्कृति विभाग की ओर से डॉ. अनुराग सीठा को ‘हिंदी भाषा सूचना प्रौद्योगिकी सम्मान 2017-18’ से सम्मानित किया गया था। उन्हें यह सम्मान रवीन्द्र भवन में आयोजित सूचना प्रौद्योगिकी के अलंकरण समारोह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दिया।

कंप्यूटर एवं तकनीक शिक्षा के क्षेत्र में उनकी एक विशिष्ट पहचान रही। उन्होंने हिंदी सॉफ्टवेयर, सर्च इंजन, वेब डिजाइनिंग,डिजिटल भाषा प्रयोगशाला, सोशल मीडिया, प्रोग्रामिंग, डिजिटल ऑडियो विजुअल एडिटिंग आदि में उत्कृष्ट योगदान दिया है। कंप्यूटरों में परिशुद्ध हिंदी लिखने हेतु शब्द संशोधक सॉफ्टवेर ‘माला’ का निर्माण भी उनके नेतृत्व में किया है, जिसे विश्वविद्यालय ने सबके लिए नि:शुल्क एवं मुक्त स्रोत के रूप में उपलब्ध कराया है।

डॉ. सीठा विश्वविद्यालय में प्रशिक्षण प्रोग्राम के समन्वयक थे। उनके मार्गदर्शन में पिछले दिनों मध्यप्रदेश के जनसंपर्क अधिकारियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। डॉ. सीठा के निधन पर विश्वविद्यालय में शोक का वातावरण है। प्रभारी कुलसचिव प्रो. पवित्र श्रीवास्तव, समस्त विभागाध्यक्ष, शिक्षक, अधिकारी एवं कर्मचारियों ने स्वर्गीय सीठा जी के प्रति अपने श्रद्धासुमन अर्पित किए हैं।

कुलसचिव
(प्रो. पवित्र श्रीवास्तव)
Attachments area

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार