आप यहाँ है :

“भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में बंगाल की भूमिका” पर वेबिनार का आयोजन

14 अगस्त 2021 को भारत के 75वें स्वतंत्रता दिवस समारोह की पूर्व संध्या पर, पर्यटन मंत्रालय ने भारतीय विश्वविद्यालयों के संघ (एआईयू) के सहयोग से एक वेबिनार आयोजित किया और इस वेबिनार के दौरान, 12 एपिसोड की एक श्रृंखला शुरू की गई जो प्रतिभागियों को एक साथ अतुल्य भारत की एक वर्चुअल यात्रा पर ले जाएगी। आज शनिवार 22 जनवरी 2022 को इस श्रृंखला की “भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में बंगाल की भूमिका” शीर्षक वाली छठी कड़ी का आयोजन किया गया।

आज के एपिसोड में, बंगाल से क्षेत्रीय स्तर के मार्गदर्शक (आरएलजी) श्री मनबेंद्र नाग तथा श्रीमती मालिनी बसु और टूर गाइड्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (टीजीएफआई) के अध्यक्ष डॉ. अजय सिंह ने बंगाल के उन महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों की वीरता की गाथा प्रस्तुत की जिन्होंने भारत की स्वतंत्रता के लिए अपने जीवन का बलिदान किया। जिन महान लोगों ने औपनिवेशिक शासन से देश को आजाद कराने की लड़ाई लड़ी और देश की रक्षा की वो लोग ही हमारे असली नायक हैं। महान स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती के उपलक्ष्य में और साल भर चलने वाले समारोह के हिस्से के रूप में, सरकार ने नई दिल्ली के इंडिया गेट पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की एक भव्य प्रतिमा स्थापित करने का निर्णय लिया है। ग्रेनाइट से बनी यह प्रतिमा हमारे स्वतंत्रता संग्राम में नेताजी के अपार योगदान के लिए एक उपयुक्त श्रद्धांजलि होगी और उनके प्रति देश के ऋणी होने का प्रतीक भी होगी। प्रतिमा का काम पूरा होने तक नेताजी की होलोग्राम प्रतिमा उसी स्थान पर मौजूद रहेगी। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 23 जनवरी, 2022 को इंडिया गेट पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण करेंगे।

एकेएएम की यात्रा में, पर्यटन मंत्रालय बच्चों और युवाओं पर ध्यान केंद्रित कर रहा है ताकि वे भारत के गौरवशाली अतीत और भव्य भविष्य से परिचित हो सकें। बच्चे और युवा हमारे अतुल्य देश की ताकत और मजबूती हैं। मजबूत सांस्कृतिक मूल्यों के साथ भारत को वैश्विक नेतृत्व के पथ पर आगे ले जाने के लिए यह महत्वपूर्ण है कि उन्हें अपने राष्ट्र की विविधता की ताकत से अवगत कराया जाए। श्रृंखला का प्रत्येक एपिसोड समृद्ध संस्कृति, इतिहास, भारत की विरासत से संबंधित विविध विषयों पर केंद्रित है और यह “अतुल्य भारत” के बारे में जागरूकता पैदा करने में सक्षम है।

वेबिनार के दौरान, श्री मनबेंद्र नाग और श्रीमती मालिनी बसु ने बंगाल के स्वतंत्रता सेनानियों की भूमिका के बारे में बात की, जिसमें उन्होंने बंगाल के महान लोगों द्वारा किए गए बलिदानों की कहानियों को साझा किया। उन्होंने श्री राजा राम मोहन राय, श्री अरबिंदो घोष, खुदीराम बोस, प्रफुल्ल चाकी, गुरुदेव रवींद्र नाथ टैगोर, बंकिम चंद्र चट्टोपाध्याय, नेताजी सुभाष चंद्र बोस सहित कई अन्य महान हस्तियों की भारत के स्वतंत्रता संग्राम में उनके महान योगदान और बलिदान की चर्चा की।

इस वेबिनार के दौरान श्रीमती रुपिंदर बराड़, अतिरिक्त महानिदेशक, पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार ने बंगाल की अतुल्य महिला स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में बात की, जिनका देश के स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण योगदान है। इस सिलसिले में उन्होंने बीना दास जी, कमला दास गुप्ता जी, सरोजिनी नायडू जी, सुचेता कृपलानी जी और कई अन्य हस्तियों का जिक्र किया। उन्होंने आगे कहा कि हमें स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान को कभी नहीं भूलना चाहिए। श्रीमती बराड़ ने आगे नई दिल्ली में राष्ट्रीय युद्ध स्मारक के बारे में भी बताया और कहा कि जब भी दिल्ली जाए, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक देखने अवश्य जाना चाहिए। यह उन सभी शहीदों को समर्पित एक स्मारक है जिन्होंने युद्ध में हमारे देश के लिए अपने प्राण न्यौछावर कर दिए। राष्ट्रीय युद्ध स्मारक, वहां जाने के समय, गतिविधियों, सुविधाओं और सहायता आदि के बारे में अधिक जानकारी आधिकारिक वेबसाइट: https://nationalwarmemorial.gov.in/ पर उपलब्ध है।

एसोसिएशन ऑफ इंडियन यूनिवर्सिटीज के महासचिव डॉ. पंकज मित्तल ने इस बात पर जोर दिया कि छात्रों, युवाओं को हमारे समृद्ध इतिहास, संस्कृति और भारत की विरासत के गहन ज्ञान के साथ जागरूक किया जाना चाहिए। हम आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं ताकि हमारे भारतीय युवा देश के बारे में अधिक जान सके और गर्व महसूस करें।

देखो अपना देश वेबिनार सीरीज एक भारत श्रेष्ठ भारत के तहत भारत की समृद्ध विविधता को प्रदर्शित करने का एक प्रयास है और यह वर्चुअल प्लेटफॉर्म के माध्यम से एक भारत श्रेष्ठ भारत की भावना को लगातार फैला रहा है। वेबिनार के बाद मायगाव पर एक प्रश्नोत्तरी का आयोजन किया गया। देखो अपना देश वेबिनार और एकेएम वेबिनार श्रृंखला को राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस विभाग, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के साथ तकनीकी साझेदारी में प्रस्तुत किया गया है। वेबिनार के सत्र अब https://www.youtube.com/channel/UCbzIbBmMvtvH7d6Zo_ZEHDA/featured और पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार के सभी सोशल मीडिया हैंडल पर भी पर उपलब्ध हैं।

आज का वेबिनार यूट्यूब लिंक https://www.youtube.com/watch?v=d8JKUGqnFDg पर है।

29 जनवरी 2022 को सुबह 11:00 बजे केरल राज्य में हमारे देश के अतुल्य गंतव्य ‘मुन्नार’ पर है। और अधिक जानने के लिए

अतुल्य भारत का अनुसरण करें:

फेसबुक – https://www.facebook.com/incredibleindia/

इंस्टाग्राम – https://instagram.com/in

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top