Thursday, July 25, 2024
spot_img
Homeपत्रिकाकला-संस्कृतिआजादी के अमृत महोत्सव के तहत मशक वादन की प्रस्तुति

आजादी के अमृत महोत्सव के तहत मशक वादन की प्रस्तुति

कोटा। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत पर्यटन विभाग की ओर से सोमवार को राजकीय संग्रहालय सुखमहल बून्दी में लघु सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें सुखदेव एण्ड पार्टी के लोक कलाकारों द्वारा आर्कषक मशक वादन कार्यक्रम की प्रस्तुतियां दी। इसी कडी में 2 अगस्त को रानीजी की बावडी पर राजस्थानी लोकगीत एवं लोक नृत्य का लघु कार्यक्रम आयोजित होगा।

समाज हित के कार्यो में शामिल होकर आमजन में प्रेरणास्पद एवं सकारात्मक कार्यों से अन्य को प्रोत्साहित करने वाले व्यक्तियों का हौसला बढ़ाने के लिए जिला कलक्टर डॉ. रविन्द्र गोस्वामी ने अनूठी पहल शुरू की है। इस पहल को नाम दिया गया है ‘कॉफी विद कलक्टर’। इसके तहत समाज उपयोग कार्य कर अन्य लोंगों को प्रेरणा देने वाली व्यक्तियों एवं संस्थाओं के साथ जिला कलक्टर हर शुक्रवार को रूबरू होंगे।

‘कॉफी विद कलक्टर’ की पहल की शुरूआत जिला कलक्टर डॉ. रविन्द्र गोस्वामी ने सोमवार को अपने कक्ष में नैनवां में श्रीगणेश वाटिका विकास समिति द्वारा किए गए समाजहित के कार्य में शामिल समिति के सदस्यों के साथ की। समिति के सदस्यों ने जिला कलक्टर के साथ अनुभव साझा किए, तो उन्होनें भी इस कार्य का दायरा बढ़ाने के लिए उनकी हौसला अफजाई की।

जिला कलक्टर ने कहा कि पेड़ लगाना आसान है, लेकिन उन्हें बचाकर बड़ा करना बड़ी बात है। समिति ने सदस्यों ने प्रकृति के प्रति अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभाते हुए समाज को भी ऐसी मुहिम से जुड़ने के लिए प्रेरित किया है। उन्होंने कहा कि वह स्वयं भी नैनवां की वाटिका का अवलोकन करेंगे।

‘कॉफी विद कलक्टर’ में शामिल किसान गोपाल सैनी और जगदीश सैनी जब जिला कलक्टर को बताया कि वह गुलाब की खेती का कार्य करते हैं, तो इस पर उन्होंने कहा कि गुलाब के साथ ही उन्हें मधुमक्खी पालन का प्रशिक्षण दिलाने की व्यवस्था कराई जाएगी।

जिला कलक्टर ने समिति सदस्यों से बूंदी जिले में चलाई जा रही ‘ बेहतरीन बूंदी’ अभियान से जुड़ने पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि समिति सदस्य समूह बनाकर अपने क्षेत्र में अभियान को गति दें, ताकि जिले को स्वच्छ बनाने का संकल्प पूरा हो सके।

जिला कलक्टर ने कार्यक्रम में शामिल अध्यापकों से चर्चा के दौरान कहा कि बच्चों की लेखनी बेहतर बनाने के लिए कार्य करें। बच्चों के भविष्य से जुड़े इस कार्य में जन सहयोग लिया जावे। इसके लिए प्राथमिक विद्यालय के बच्चों के बैठने के लिए टेबिल कुर्सी उपलब्ध करवाने के लिए आमजन को प्रेरित करने का कार्य करें।

वर्ष 2013 में अपने मित्र कर्मवीर सिंह सोलंकी की स्मृति में पंाच पौधे लगाकर श्री गणेश वाटिका का निर्माण शुरू किया था। इसमें लोग जुड़ते गए और करवां बढ़ता है। समिति के अरविंद शर्मा अपने अनुभव साझा करते हुए बताया कि वर्तमान में वाटिका पूरी तरह विकसित हो चुकी है। इसमें लगभग 125 पौधे नीम, कल्पवृक्ष, पारस पीपल, बरगद, पीपल, गूगल गुल्लर गुलमोहर आदि के लगे है। अपने कार्य का दायरा बढ़ाते हुए समिति ने अब रिद्दी सिद्दी वाटिका का निर्माण भी शुरू किया है। समिति पेड़ पौधों के साथ साथ नियमित रूप से पक्षियों को दाना पानी एवं लावारिस पशुओं के लिए चारे पानी की व्यवस्था भी करती है। साथ ही समय समय पर सामाजिक दायित्वों के निर्वहन में भी आगे बढ़कर सहयोग करती है।

‘कॉफी विद कलक्टर’ में अरविंद शर्मा, मिथलेश, रमेश सेन, सूरज कारपेंटर, दामोदर नागर, सीताराम चौधरी, राजू सैनी, सुरेन्द्र यादव, किशन लाल माली, जगदीश माली, बाबू माली, पंकज सुमन, पुष्पेन्द्र शर्मा, आमीन खान, बंशी माली एवं हनुमान माली पहले ’ कॉफी विद कलक्टर’ कार्यक्रम में शामिल हुए।
Attachments area

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार