Saturday, April 13, 2024
spot_img
Homeखेल की दुनियाप्रो, अच्युत सामंत ने ओडिशा स्पोर्ट्स माडल को भारत में श्रेष्ठ ...

प्रो, अच्युत सामंत ने ओडिशा स्पोर्ट्स माडल को भारत में श्रेष्ठ बताया

भुवनेश्वर। बिहार प्रदेश सरकार द्वारा पटना में आयोजित दो दिवसीय बिहार स्पोर्ट्स कन्कल्लेव-2022 का उद्घाटन बिहार सरकार के आर्ट,कल्चर तथा युवा कल्याण मंत्री डा.आलोक रंजन ने किया। अवसर पर आमंत्रित विशिष्ट अतिथि के रुप में गये ओडिशा,भुवनेश्वर कीट-कीस के प्राणप्रतिष्ठाता तथा कंधमाल लोकसभा सांसद प्रोफेसर अच्युत सामंत ने अपने संबोधन में बिहार-खेल-जगत की उपलब्धियों की सराहना की। उन्होंने अपने संबोधन में ओडिशा स्पोर्ट्स माडल को भारत में बेस्ट बताया। प्रोफेसर सामंत ने बताया कि खेल के विकास के लिए खेल के प्रति अभिरुचि,लगन,समर्पण,त्याग तथा निःस्वार्थ भाव से सेवा की जरुरत होती है।

राज्य में खेलों को प्रोत्साहन देने के लिए खेल के अत्याधुनिक संसाधन होने चाहिए।खेल इन्फ्रास्ट्रक्चर होना चाहिए। प्रोफेसर सामंत ने बताया कि उनकी संस्था कीट से तीन खिलाडी टोकियो ओलंपिक गये।लगभग 5000 राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय खिलाडी उनके मार्गदर्शन में तैयार किये गये। यह सबकुछ उनके द्वारा कीट में उपलब्ध खेल इन्फ्रास्ट्रक्चर ,कोच,समस्त अत्याधुनिक खेल संसाधन ,सतत अभ्यास तथा खेलों के प्रति खिलाडियों में अभिरुचि के बदौलत संभव हुआ है। उन्होंने बताया कि ओडिशा के माननीय मुख्यमंत्री श्री नवीन पटनायकजी ने ओडिशा को स्पोर्ट्स हब बना दिया है। मुख्यमंत्री ने ओडिशा को वर्ल्ड क्लास स्पोर्ट्स सेंटर बना दिया है। आज ओडिशा अनेक राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय खेलों का सफल आयोजन कर रहा है।ओडिशा में खेलों के विकास के लिए जमीनी स्तर से प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि बिहार में भी राज्य सरकार की ओर से खेलों को बढावा दिया जा रहा है।यह खुशी की बात है।गौरतलब है कि प्रोफेसर अच्युत सामंत अखिल भारतीय वालीबाल परिसंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं जिनके सहयोग से ओडिशा के गांव-गांव में वालीबाल खेल को प्रोत्साहित किया जा रहा है।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार