Tuesday, March 5, 2024
spot_img
Homeमीडिया की दुनिया सेअमेरिकी राज्य जार्जिया में हिंदुओं के खिलाफ हो रहे षड़यंत्रों के विरोध...

अमेरिकी राज्य जार्जिया में हिंदुओं के खिलाफ हो रहे षड़यंत्रों के विरोध में प्रस्ताव पारित

अमेरिका के जॉर्जिया राज्य की असेम्बली (विधानसभा) ने ‘बढ़ती हिंदू घृणा’ (Hinduphobia) की निंदा करते हुए हिन्दू-विरोधी कट्टरता के खिलाफ एक प्रस्ताव पारित किया है। जॉर्जिया अमेरिका का पहला राज्य है जिसने इस प्रकार का प्रस्ताव पारित किया है। प्रस्ताव में बताया गया कि किस तरीके से अमेरिका में पिछले कुछ दशकों से हिंदू-अमेरिकियों के खिलाफ घृणा अपराधों के मामले बढ़े हैं और संस्थागत तरीके से हिन्दुओं के खिलाफ नफरत फैलाई जा रही है

इस प्रस्ताव में कहा गया है कि हिंदू धर्म दुनिया के सबसे बड़े और सबसे पुराने धर्मों में से एक है, जिसके 100 से अधिक देशों में 1.2 बिलियन से अधिक अनुयायी हैं। इसमें विविध परंपराओं और विश्वास के साथ स्वीकृति, आपसी सम्मान और शांति भी शामिल है।

यह प्रस्ताव एटलांटा में फोर्सिथ काउंटी के प्रतिनिधि लॉरेन मैकडॉनल्ड और टॉड जोन्स द्वारा पेश किया गया। ज्ञात हो कि जॉर्जिया में सबसे अधिक हिन्दू और भारतीय-अमेरिकी यहीं पर रहते हैं।

इस प्रस्ताव में कहा गया है कि हिंदू समुदाय चिकित्सा, विज्ञान, इंजीनियरिंग, सूचना प्रौद्योगिकी, वित्त, शिक्षा, विनिर्माण, ऊर्जा और खुदरा व्यापार जैसे विविध क्षेत्रों में एक प्रमुख योगदानकर्ता रहा है।

इस दौरान हिन्दुओं के महत्वपूर्ण योगदान का उल्लेख किया गया। बताया गया कि योग, आयुर्वेद, ध्यान, भोजन, संगीत और कला में हिन्दुओं के योगदान ने सांस्कृतिक ताने-बाने को समृद्ध किया है। साथ ही अमेरिकी समाज ने भी इसे व्यापक रूप से अपनाकर लाखों लोगों के जीवन को बढ़ाया है।

यह भी बताया गया कि किस तरीके से अमेरिका में पिछले कुछ दशकों से हिंदू-अमेरिकियों के खिलाफ घृणा अपराधों के मामले बढ़े हैं और संस्थागत तरीके से हिन्दुओं के खिलाफ नफरत फैलाई जा रही है। यह कार्य स्कूल और कॉलेज स्तर पर कुछ शिक्षकों द्वारा भी किया जा रहा है, जो हिंदू धर्म को खत्म करने का समर्थन करते हैं और इसके पवित्र ग्रंथों को हिंसा से जोड़ कर दिखाते हैं।

प्रस्ताव पारित करने हेतु किये गए प्रयास
इससे पहले उत्तरी अमेरिका में हिंदुओं के गठबंधन (CoHNA) द्वारा अटलांटा क्षेत्र में एक मुहिम शुरू की गयी थी जिसके तहत जॉर्जिया स्टेट कैपिटल में पहले हिंदू एडवोकेसी डे का आयोजन किया था।

इसमें रिपब्लिकन और डेमोक्रेट दोनों दलों के लगभग 25 सांसदों ने भाग लिया। इस बैठक में हिंदू समुदाय की चिंताओं को समझने, भेदभाव के खिलाफ समुदाय की रक्षा करने के तरीके बनाने और महत्वपूर्ण निर्णय लेने की प्रक्रियाओं में हिन्दुओं के प्रतिनिधित्व पर चर्चा हुई।

CoHNA के उपाध्यक्ष राजीव मेनन ने कहा, “रेप मैकडॉनल्ड और रेप जोन्स के साथ-साथ अन्य सांसदों के साथ काम करना एक सच्चा सम्मान था, जिन्होंने इस काउंटी संकल्प को पारित करने की पूरी प्रक्रिया में हमारा मार्गदर्शन किया।”

CoHNA की महासचिव शोभा स्वामी ने कहा, “जॉर्जिया और देश के बाकी हिस्सों में झूठे, हिंदूफोबिक नैरेटिव के माध्यम से हिंदू अमेरिकियों को निशाना बनाया जा रहा है जिससे हिन्दू समुदाय नकारात्मक रूप से प्रभावित हो रहा है।”

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार