आप यहाँ है :

डॉ.सुभाष चंद्रा शो ने हरियाणा के किसानों की सोच बदली

हिसार के कारोबारी किसान रवि भारद्वाज बीते बुधवार को चंडीगढ़-मुंबई फ्लाइट में मेरे साथ थे। रवि मुंबई जा रहे थे सलमान खान से मिलने। पर बजरंगी भाईजान के इस हीरो से मुलाकात का उद्देश्य फिल्मी फैंटेसी से जुड़ा कतई नहीं था। दरअसल सलमान खान अब खुद खेत खलिहानों के बीच आना चाहते हैं और गांव चौपाल का संसार टीवी के परदे पर दिखाना चाहते हैं। बिग बॉस और दस का दम जैसे रियलिटी शो होस्ट करने वाले सलमान खान टीवी के परदे पर लाना चाहते हैं खेती-बाड़ी वाला शो जिसका नाम होगा फार्म”। जब बात खेती बाड़ी की हो तो हरियाणवियों की दखल के बगैर कैसे पूरा होगा सलमान का सपना। श्री भारद्वाज ने बताया कि इस शो में भाग लेने वाले सभी कलाकार और मशहूर हस्तियां खेतों में रहकर गाय, भैंस का दूध निकालना और खेती करना सीखेंगे जिसमें किसान ही उनकी मदद करेंगे। मतलब देश विदेश की कई जानी मानी हस्तियां वह सब करेंगी जो उन्होंने कभी किया ही नहीं या जिसे उन्होंने सिनेमा के परदों पर ही देखा होगा।

रवि को मुंबई में चावल, गेहूं, दाल, कपास और बाजरा आदि फसलों का आनलाइन बाजार भी खंगालना है। भारत में कमोडिटी एक्सचेंज का बढता दायरा हरियाणा के किसानों के लिए आशा की नई किरण है। रवि बैचैन हैं हरियाणा के किसानों के फसली बरबादी और धान कपास की बेकदरी देखकर। सफेद मक्खी ने कपास की फसल बरबाद कर दिया जो बची उसे बदरंग कर डाला, अब काली कपास की कीमत कौन व्यापारी देगा। धान जिन जिलों में अच्छा भी हुआ तो बासमती को सरकारी कीमत पर बेचने की नौबत है। रवि की ही तरह करनाल के सुरिंदर शर्मा, पेहोवा से बंसबहादुर, साहा के प्रेम शंकर और बिलासपुर यमुनानगर के जगनन्दन को धान की वाजिब कीमत न मिलने और मंडी में नमी के नाम पर गैर वाजिब कटौती की शिकायत है। इनका कहना है कि जो बासमती दो साल पहले साढे तीन हजार रुपये क्विंटल बिक रहा था अब मंडी में उसे सरकारी 1450 रुपये के रेट पर भी खरीदा नहीं जा रहा है। रवि के कई मित्रों और रिश्तेदारों के फार्म हिसार, सिरसा आदमपुर मंडी आदि इलाकों में हैं और उन्होंने नजदीक से देखा है कैसे आदमपुर मंडी के गोयल परिवार का एक युवा कारोबारी गेहूं दाल बेचते-बेचते मुंबई पहुंच गया और हिसार की गल्ला कारोबारी फर्म एस्सल बन गई।

एस्सल वर्ल्ड फिर जी टीवी। हिसार के किसानों से गेहूं दाल कपास का सौदा करते करते सुभाष चंद्रा ने फौजियों को सप्लाई शुरू की, एफसीआई को गेहूं चावल के गोदामों का नया रास्ता दिखाया और हरियाणा के गल्ला कारोबार और पैकेजिंग चमत्कारों की बदौलत ही पहुंच गए टीवी की दुनिया में और आज बना रहे हैं रियलिटी शो आई कैन डू दैट। रवि भारद्वाज को इस बार तो हिसार से हवाई जहाज पकड़ने चंडीगढ़ आना पड़ा, पर उन्हें उम्मीद है कि बहुत जल्द हिसार का अपना हवाई अड्डा होगा और जागरूक स्मार्ट किसानों की फसलें खरीदने दुनिया भर के कारोबारी हरियाणा आएंगे, साथ ही कारगो एयरपोर्ट के जरिए किसानों की फसलें देश विदेश भेजी जा सकेंगी। रवि कहते हैं कि किसानों को भी खुद से कहना चाहिए कि “मैं वह कर सकता हूं।“ जो किसान हजार फुट नीचे से पानी खींच कर धान उगा सकता है वह संकल्प कर ले तो अपना माल अपनी मर्जी से अपनी शर्तों पर बेच भी सकता है। सरकारी मंडी मनमाफिक नहीं लगती हो तो बच्चों को इंटरनेट सिखाओ और कोशिश करके खुद भी सीखो। आनलाइन बेचो, कमोडिटी स्टाक एक्सचेंज में बेचो। बेचने का गुर हिसार के सुभाष चंद्रा से सीखो। बाबा रामदेव से सीखो।

साभार-http://dainiktribuneonline.com/से

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top