आप यहाँ है :

विआन की लोकप्रियता से घबराकर यू ट्यूब ने फैसला बदला

सोशल मीडिया पर जमकर हुई आलोचना के बाद यू-ट्यूब ने अंग्रेजी न्यूज चैनल ‘WION‘ पर लगाए गए प्रतिबंध को शनिवार को हटा लिया है। करीब 12 घंटों में 25 हजार से ज्यादा पोस्ट आने के बाद यूट्यूब ने अपने कदम पीछे किए और चैनल को अनब्लॉक किया।

बता दें कि रूस के बयान को लेकर की गई स्टोरी के खिलाफ यू-ट्यूब ने 22 मार्च को चैनल के खिलाफ बैन लगा दिया था, जिसके बाद से चैनल को वीडियो अपलोड करने की अनुमति नहीं थी।

वहीं, न्यूज चैनल का कहना है कि पत्रकारिता के नियमों के अनुसार वह रूसी आक्रमण की निंदा करते हुए कहानी के दोनों पक्षों को जनता के सामने रख रहे थे।

दरअसल, यू-ट्यूब को WION द्वारा अपलोड किए गए 10 मार्च के एक वीडियो पर आपत्ति थी, जिसमें दो भाषणों को एक साथ दिखाया गया था। इसमें एक तरफ यूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्री कुलेबा बोल रहे थे, तो दूसरी तरफ रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव बोल रहे थे। इस वीडियो को यू-ट्यूब ने अपनी कम्युनिटी गाइडलाइन के खिलाफ पाया और चैनल को मैसेज भेजते हुए नए वीडियो अपलोड करने पर रोक लगा दी।

इसके जवाब में WION ने यू-ट्यूब से अपील की लेकिन उसे अस्वीकार कर दिया गया। इसके बाद चैनल ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को मेल लिखकर स्पष्टीकरण मांगा, जिसके जवाब में यू-ट्यूब ने लिखा कि हमारी कम्युनिटी गाइडलाइन के तहत किसी भी तरह की हिंसक घटना से जुड़ी सामग्री प्रतिबंधित है। इस नियम के तहत ही WION के वीडियो को हटाया गया है, उन्होंने उदाहरण देकर समझाया है कि अगर रूस यूक्रेन पर हमले की बात को खारिज करता है या फिर युद्ध से पीड़ित लोगों को एक्टर्स करार देता है, तो ऐसी सूचना देने वाले वीडियोज को यू-ट्यूब से हटा लिया जाएगा।

इस वीडियो में रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने एक सवाल के जवाब में कहा था कि हम किसी भी देश पर हमला करने की योजना नहीं बना रहे हैं, यहां तक कि हमने यूक्रेन पर भी हमला नहीं किया है। उन्होंने कहा था कि वह एक ऐसी स्थिति में हैं जहां रूसी संघ की सुरक्षा पर सीधा खतरा नजर आ रहा है।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top