आप यहाँ है :

जज ने कहा, तुमने झूठ बोलकर हिन्दू लड़की से शादी की, जमानत कैसे दे दूँ?

अहमदाबाद. पहचान छिपाकर एक हिंदू लड़की से शादी करने वाले मुस्लिम आरोपी को गुजरात हाईकोर्ट के एक जज ने न सिर्फ जमानत देने से इनकार कर दिया बल्कि उसे अपने नाम से सबक लेने की नसीहत भी दी। आरोपी पहले से शादीशुदा है और उसने हिंदू लड़की को झांसा देकर उससे दूसरी शादी की।
यह है मामला
यहां अश्मत अली सैयद नाम के आदमी ने एक हिंदू लड़की से पहचान छुपाकर शादी की। अश्मत अली पहले से शादीशुदा है और उसके बच्चे भी हैं। लड़की ने सच्चाई पता लगने के बाद अश्मत अली के खिलाफ केस दर्ज करा दिया। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी ने जमानत के लिए गुजरात हाईकोर्ट में अपील दायर की।
क्या कहा जज ने
पूरा मामला सुनने के बाद हाईकोर्ट के जज जेड.के. सैयद ने आरोपी से कहा, “तुमने लड़की को यह नहीं बताया कि तुम मुस्लिम हो और पहले से शादीशुदा हो। फिर तुमने लड़की को धोखा देकर उससे शादी की। तुम एक सैयद हो जो मुस्लिमों के धर्मगुरु होते हैं। मैं भी एक सैयद हूं। तुमने दूसरी शादी करने के लिए इतनी बड़ी धोखेबाजी की। मैं तुम्हें जमानत कैसे दे दूं।” जज का कड़ा रुख देखते हुए आरोपी के वकील ने जमानत की अर्जी वापस ले ली।
खतरनाक होंगे नतीजे
हाईकोर्ट द्वारा अश्मत अली की जमानत अर्जी खारिज करने के पहले सेशन कोर्ट भी उसे जमानत देने से इनकार कर चुका है। सेशन कोर्ट ने आरोपी की जमानत अर्जी ठुकराते हुए कहा था, “आरोपी ने हिंदू बनकर लड़की को धोखा दिया और उससे शादी की। यह गंभीर मामला है। अगर हम इस तरह के क्राइम्स को हल्के में लेते हैं तो इसके खतरनाक नतीजे सामने आ सकते हैं।”

साभार-दैनिक भास्कर से

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top