आप यहाँ है :

तिनका तिनका रेडियो ने जारी किया 6 जेलों का संगीत- 2021 के सुरों का पिटारा

नव वर्ष की पूर्व संध्या पर साल 2021 में जारी किए गए जेल में रचित गानों को याद किया गया। डॉ. वर्तिका नन्दा द्वारा स्थापित तिनका तिनका फाउंडेशन के जेल रेडियो अभियान की मदद से साल 2021 में हरियाणा और देहरादून की जेलों के कुल 6 गाने रिलीज किए गए थे। साल के अंत में तिनका तिनका ने बंदियों के इन प्रयासों को सराहा और जेल प्रशासन को सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया।

तिनका जेल रेडियो के ट्रेनिंग प्रोग्राम के जरिए करीब 50 बंदियों को प्रशिक्षित और प्रोत्साहित किया गया, जिसके बाद इन सभी ने मिल कर इस साल 6 गानों को लिखा, गाया और जारी किया। यह गाने अंबाला, रोहतक, पानीपत, करनाल, हिसार की जेलों में और देहरादून की सुधोवाला जेल में बनाए गए रेडियो स्टेशंस की मदद से निर्मित हुए। इन गानों को तिनका तिनका के सोशल मीडिया प्लेटफार्म, जैसे गूगल पॉडकास्ट, स्पोटिफाई और तिनका तिनका प्रिसन रिफॉर्म्स के यूट्यूब चैनल, पर जारी और प्रसारित किया गया। नए साल की पूर्व संध्या पर जारी किया गया पॉडकास्ट श्रृंखला का 32वां एपिसोड है।

जेल में संगीत प्रयोग

तिनका तिनका फाउंडेशन ने जेलों से संबंधित मुद्दों को रखा है, जेल की आवाजों को अपनी अनकही कहानियों को साझा करने का अवसर दिया है और जेल रेडियो के माध्यम से भारत भर में कई अन्य कैदियों को अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करने के लिए अवसर प्रदान किया है। तिनका तिनका के सलाखों के पीछे के संगीत प्रयोगों के परिणाम के रूप में अकेले 2021 में ही छह संगीत रचनाएं जारी की गईं।

इस वर्ष तिनका तिनका फाउंडेशन ने केंद्रीय जेल अंबाला के कैदी शेरू का गीत जारी किया, जिसे पूर्व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने अपने विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर सराहा। जिला जेल रोहतक के कैदी से आरजे बने आरजे जितेंद्र द्वारा गाया गया कोरोना पर एक गीत भी पूर्व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री द्वारा साझा किया गया। पानीपत जेल के आरजे कशिश द्वारा गाया और संगीतबद्ध एक गीत नेल्सन मंडेला दिवस पर जारी किया गया था। तिनका तिनका ने जिला जेल, करनाल के 10 कैदियों को भी जेल का थीम सॉन्ग रिलीज करने में मदद की। जन्माष्टमी के त्यौहार पर जारी इसकी 26वीं कड़ी में एक विशेष रागिनी, एक हरियाणवी लोक गीत, सेंट्रल जेल (I), हिसार के तीन कैदियों द्वारा गाया गया था। जिला जेल, देहरादून के 14 बंदियों को भी अपने जेल की सिग्नेचर ट्यून लिखने और गाने का अवसर प्रदान किया गया।

उद्देश्य

जेल रेडियो का उद्देश्य कैदियों की संचार जरूरतों को पूरा करना है। कोरोना महामारी के दौरान जेल रेडियो कैदियों को मानसिक राहत देने में काफी मददगार साबित हुआ है। ये जेल रेडियो विशेष रूप से डिज़ाइन किए गए स्टूडियो के माध्यम से प्रतिदिन एक घंटे के लिए कार्यक्रम प्रसारित करते हैं।

प्रिज़न रेडियो के चरण और पृष्ठभूमि

हरियाणा में जेल रेडियो को तीन चरणों में पेश किया गया है- पहले चरण में तीन जेल शामिल हैं- जिला जेल पानीपत, जिला जेल फरीदाबाद और केंद्रीय जेल अंबाला। हरियाणा की जेलों में रेडियो लाने का दूसरा चरण भी पूरा हो चुका है। इनमें जिला जेल, करनाल, जिला जेल, रोहतक, जिला जेल, गुरुग्राम और केंद्रीय जेल (आई) हिसार शामिल हैं। तीसरे चरण में 5 जेलों का चयन किया गया है जो जिला जेल सिरसा, सोनीपत, जींद, झज्जर और यमुनानगर हैं।

हरियाणा के जेल मंत्री श्री रंजीत सिंह ने पानीपत में राज्य के पहले जेल रेडियो का उद्घाटन किया था। हिसार जेल रेडियो का उद्घाटन 29 अप्रैल, 2021 को श्री राजीव अरोड़ा आईएएस, अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह और जेल) और श्री के सेल्वराज, आईपीएस (सेवानिवृत्त), महानिदेशक कारागार, हरियाणा द्वारा किया गया था।

जिला जेल, देहरादून, में जेल रेडियो की स्थापना सितम्बर 2021 में वरिष्ठ अधीक्षक श्री दधी राम, जेलर श्री पवन कोठारी एवं उत्तराखंड जेलों के महानिरीक्षक, श्री अंशुमान, के सहयोग से की गयी।

तिनका तिनका फाउंडेशन और डॉ वर्तिका नन्दा के बारे में

तिनका तिनका जेल सुधारक और मीडिया शिक्षिका डॉ. वर्तिका नन्दा के दिमाग की उपज है, जो दिल्ली विश्वविद्यालय के लेडी श्रीराम कॉलेज में पत्रकारिता विभाग की प्रमुख हैं। उन्हें 2014 में भारत के राष्ट्रपति से स्त्री शक्ति पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। जेलों पर उनके काम को दो बार लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में जगह मिली है। जेलों पर उनके काम पर 2018 में भारत के सर्वोच्च न्यायालय द्वारा संज्ञान लिया गया था।

हरियाणा में जेल रेडियो का विकास जेल सुधार के तिनका तिनका मॉडल पर चल रहे एक बड़े अभियान का हिस्सा है। तिनका तिनका का टैगलाइन है- जेलों में इंद्रधनुष बनाना। हर साल तिनका तिनका फाउंडेशन विशेष तिनका तिनका इंडिया अवार्ड प्रदान करके भी कैदियों और जेल कर्मचारियों को प्रोत्साहित करता है।

Hashtags: #vartikananda #tinkatinka #jail #prison #jailradio #tinkajailreforms #haryanajail #music

YouTube लिंक:

https://www.youtube.com/watch?v=2ZtYRVAhVaU


Dr. Vartika Nanda
Prison Reformer & Media Educator
Founder, Tinka Tinka

Email: [email protected]
Website: www. tinkatinka.org
Phone: +91 98112 01839

image_pdfimage_print


Leave a Reply
 

Your email address will not be published. Required fields are marked (*)

three × 4 =

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

सम्बंधित लेख
 

Back to Top