आप यहाँ है :

लोकल ट्रेन में यात्रा कर महाप्रबंधक ने यात्रियों से जाना फीडबैक

मुंबई। पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री आलोक कंसल ने 28 अगस्त, 2021 को मुंबई उपनगरीय खंड का औचक निरीक्षण किया और लोकल ट्रेन में यात्रा की। उन्होंने यात्रियों से उनकी प्रतिक्रिया और सुझावों के लिए बातचीत की और विभिन्न महत्वपूर्ण पहलुओं पर उनका फीड़बैक लिया।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्‍पर्क अधिकारी श्री सुमित ठाकुर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, महाप्रबंधक श्री कंसल ने चर्चगेट से अपना निरीक्षण शुरू किया, जिसमें उन्होंने बूट पॉलिश वालों से बातचीत की और उनके कल्याण के साथ-साथ उनके टीकाकरण की स्थिति के बारे में जानकारी ली। महाप्रबंधक को यह जानकर प्रसन्नता हुई कि उन सभी को टीका लगाया जा चुका है और उनमें से अधिकांश ने विशेष रूप से मुंबई सेंट्रल स्टेशन पर कुलियों, जूता चमकाने वाले लड़कों, स्टेशन कर्मचारियों आदि के लिए आयोजित टीकाकरण शिविर में टीका लगाया था। इसके बाद, महाप्रबंधक विरार जाने वाली लोकल ट्रेन में सवार हुए और विशेष रूप से द्वितीय श्रेणी के कोचों में उपलब्ध यात्री सुविधाओं और उनसे सम्बंधित विभिन्न पहलुओं का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान उन्होंने लोकल ट्रेनों, विशेषकर महिला डिब्बों में सीसीटीवी निगरानी प्रणाली का जायजा लिया। महाप्रबंधक को अवगत कराया गया कि 139 महिला कोचों और 50 सामान्य कोचों में सीसीटीवी लगाए गए हैं, जबकि शेष कोचों के लिए कार्य जारी है। श्री कंसल ने सम्बंधित अधिकारियों को आपात स्थिति में यात्रियों में जागरूकता लाने के लिए आरपीएफ हेल्पलाइन नम्बर 139 को प्रदर्शित करने के निर्देश दिए। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि अनाधिकृत स्टिकर चिपकाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाये। निरीक्षण के दौरान उन्होंने यात्रियों से बातचीत की, उनकी यात्रा के अधिकार पत्र की जाँच की, उनकी समस्याओं के बारे में पूछताछ की और तदनुसार उनका मार्गदर्शन किया। उन्होंने उनसे कोविड के अनुरूप उपयुक्त व्यवहार का पालन करने की अपील की और सार्वजनिक स्थानों पर हमेशा मास्क पहनने पर जोर दिया। सभी यात्रियों ने महाप्रबंधक की इस उल्लेखनीय पहल से काफी खुश हुए और उन्होंने अपनी सकारात्मक प्रतिक्रिया प्रदान की।

श्री ठाकुर ने बताया कि महाप्रबंधक श्री कंसल ने नालासोपारा स्टेशन पर उतरकर एक चाय की दुकान का निरीक्षण किया और कैंटीन कर्मचारियों के चिकित्सा प्रमाणन, उत्पादों की समाप्ति तिथि, भोजन की गुणवत्ता की जाँच की। उन्होंने प्रदर्शित रेट कार्ड के साथ नये रेट कार्ड की तुलना की और नो बिल नो पेमेंट सम्बंधी जानकारी देने वाले बोर्ड के प्रदर्शन की पुष्टि भी की। उन्होंने सम्बंधित अधिकारियों को कार्य स्थलों और प्लेटफॉर्म सतहों के स्तर और वातावरण में सुधार करने के निर्देश दिये। इसके बाद श्री कंसल ने विरार में ईएमयू कार शेड का निरीक्षण करने के लिए दौरा किया। इस अवसर पर तीनों ईएमयू कारशेडों में विभिन्न ढांचागत विकासों, ईएमयू रेकों को रखने, चलाई जा रही ट्रेनों के विभिन्न संरक्षा पहलुओं और ईएमयू सेवाओं की क्षमता वृद्धि का विवरण देने वाले एक प्रेज़ेंटेशन की प्रस्तुति कर सम्बंधित चर्चा की गई।

बाद में महाप्रबंधक ने विद्युत प्रशिक्षण केंद्र (ETC) का निरीक्षण किया और जूनियर इंजीनियरों एवं मोटरमैनों की चल रही कक्षा में शामिल विद्यार्थियों के साथ बातचीत कर उन्हें अचम्भित किया। उन्होंने दो प्रशिक्षण पुस्तकों का विमोचन भी किया। उन्होंने उत्तम रेक का निरीक्षण भी किया और रेक में यात्री सुविधाओं जैसे सीटों की गुणवत्ता, कोचों में उपलब्ध सीसीटीवी प्रणाली की समीक्षा की। इसके अलावा, महाप्रबंधक द्वारा ईएमयू सिम्युलेटर और बोगी ड्रॉप टेबल (BDT) का भी निरीक्षण किया गया था। श्री कंसल ने इस कारशेड में “आरोग्य वाटिका” का उद्घाटन किया, जिसे औषधीय और हर्बल पौधों के साथ विकसित किया गया है। महाप्रबंधक ने ईएमयू कारशेड को बेहतर बनाने के लिए सम्पन्न अच्छी पहलों के कार्यों हेतु पुरस्कार भी घोषित किये।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top