आप यहाँ है :

पश्चिम रेलवे क्षेत्रीय राजभाषा कार्यान्वयन समिति की बैठक संपन्न

मुंबई। पश्चिम रेलवे की क्षेत्रीय राजभाषा कार्यान्‍वयन समिति की कार्यान्‍वयन बैठक दिनांक 24.06.2021 को पश्चिम रेलवे के अपर महाप्रबंधक श्री आलोक कुमार की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में पश्चिम रेलवे के अपर महाप्रबंधक श्री आलोक कुमार ने समिति के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि भाषा मानव के भावों तथा विचारों की अभिव्यक्ति का माध्यम मात्र नहीं है बल्कि यह समाज और देश को सुदृढ़ बनाने का साधन भी है। भाषा व्यक्ति के साथ-साथ राष्ट्र के विकास में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इसलिए हिंदी के गुणों को ध्यान में रखते हुए भारतीय संविधान में इसे राजभाषा के रुप में स्वीकार किया गया है।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी श्री सुमित ठाकुर द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार अपर महाप्रबंधक श्री आलोक कुमार ने कहा कि हिंदी में भारतीयों की संवेदनाओं को व्यक्त करने की पूर्ण क्षमता है। इसका शब्दकोश बहुत व्यापक है इसलिए इसमें वैज्ञानिक एवं तकनीकी विषय भी समाहित हो सकते हैं। सभी मदों में हिंदी का प्रयोग बढ़ाने के लिए आवश्यक है कि हिंदी के सहज, प्रचलित और सरल शब्दों को लिखा जाए। सभी वरिष्ठ अधिकारी स्वयं हिंदी में कार्य करके अपने अधीनस्थ अधिकारियों एवं कर्मचारियों को राजभाषा में कामकाज करने के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित कर सकते हैं।

इस बैठक में पश्चिम रेलवे के प्रधान कार्यालय, महाराष्ट्र, गुजरात और मध्य प्रदेश में स्थित 6 मंडलों और 6 कारखानों में पिछली तिमाही के दौरान राजभाषा कार्यान्वयन में हुई प्रगति की समीक्षा की गई। राजभाषा कार्यान्वयन में हुई प्रगति संबंधी आंकड़े समिति के सदस्य सचिव डॉ सुशील कुमार शर्मा द्वारा प्रस्तुत किए गए।

राजभाषा बैठक के प्रारंभ में पश्चिम रेलवे के मुख्य राजभाषा अधिकारी, श्री अजय गोयल ने समिति के अध्यक्ष एवं अपर महाप्रबंधक, गृह मंत्रालय के उपनिदेशक, पश्चिम रेलवे के सभी विभागों के प्रमुखों, मंडल रेल प्रबंधक एवं अपर मंडल रेल प्रबंधक, सभी प्रमुख कारखाना प्रबंधक और अन्य अधिकारियों का स्वागत करते हुए कहा कि राजभाषा विभाग द्वारा जारी इस वर्ष के वार्षिक कार्यक्रम में प्रेरणा, प्रोत्‍साहन, प्रेम, प्रशिक्षण, प्रयोग, प्रबंधन, प्रतिबद्धता एवं प्रयास आदि 12 शब्‍दों को उल्‍लेख किया है जिसके माध्‍यम से कार्यालयों में हिंदी को लागू करना है।

पश्चिम रेलवे क्षेत्रीय राजभाषा कार्यान्‍वयन समिति की इस राजभाषा बैठक में गृह मंत्रालय से उप निदेशक डॉ. सुष्मिता भट्टाचार्य और पश्चिम रेलवे के प्रमुख विभागाध्यक्ष, अपर मंडल रेल प्रबंधक, कारखाना प्रबंधक आदि उपस्थित थे। अंत में पश्चिम रेलवे के वरिष्ठ राजभाषा अधिकारी श्री अशोक कुमार के धन्यवाद ज्ञापन के साथ बैठक संपन्न हुई।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top