Friday, May 24, 2024
spot_img
Homeसोशल मीडिया सेअर्णब गोस्वामी को अजीब धमकी, नेशन वांट्स टू नो बोला तो जेल...

अर्णब गोस्वामी को अजीब धमकी, नेशन वांट्स टू नो बोला तो जेल भेज देंगे

अंग्रेजी मीडिया के देश के चर्चित चेहरे अर्णब गोस्वामी को एक मीडिया हाउस से अंग्रेजी का एक मुहावरा इस्तेमाल ना करने की धमकी मिली है। अर्णब गोस्वामी जब अंग्रेजी न्यूज चैनल टाइम्स नाउ में थे तो इस चैनल पर उनका सबसे पसंदीदा वाक्य था ‘नेशन वांट्स टु नो’। अर्नव गोस्वामी अपने शो ‘द न्यूज ऑवर’ में कई बार इस लाइन का इस्तेमाल करते थे। दरअसल ये लाइन उनकी पहचान के साथ जुड़ गया था। लेकिन अर्नब गोस्वामी के मुताबिक अब एक मीडिया हाउस ने कानूनी नोटिस भेजकर अर्नब गोस्वामी को धमकी दी है कि वे इस लाइन का इस्तेमाल ना करें अन्यथा उनके ऊपर कानूनी कार्रवाई की जाएगी और उन्हें जेल भिजवा दिया जाएगा।

अर्णब गोस्वामी ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो मैसेज जारी किया किया है। इस मैसेज में उन्होंने कहा है,’ जेल भेजने की धमकी से मैं रुकने वाला नहीं हूं, अपने पैसे भरे बैग और वकीलों को ले आओ, मेरे खिलाफ ‘नेशन वांट्स टु नो’ फ्रेज का इस्तेमाल करने के लिए आपराधिक मुकदमा दर्ज कर दो। तुम जो चाहो वो कर सकते हो, तुम्हारे पास जितना भी पैसा है खर्च कर लो और मुझे गिरफ्तार करवा दो, मैं अभी अपने स्टुडियो में इंतजार कर रहा हूं, आओ अपनी धमकी पर अमल कर लो।’इ स ऑडियो मैसेज में अर्णब गोस्वामी बताते हैं कि आखिर ‘नेशन वांट्स टु नो’ मुहावरा है किसका। अर्णब गोस्वामी ने कहा कि दर्शकों ये मुहावरा ‘नेशन वांटस टु नो’ आपका है, आपसे जुड़ा है। ये बताता है कि हम क्या करते हैं, कौन से मुद्दे उठाते हैं, कौन सा सवाल उठाते हैं और कैसे जवाबदेही तय करते हैं। अर्णब गोस्वामी के मुताबिक वह पिछले 20 साल से अपने रिपोर्टिंग और डिबेट शो में इस मुहावरे का गर्व के साथ इस्तेमाल करते आए हैं। अर्णब गोस्वामी कहते हैं कि वे उन लोगों के आभारी हैं जिन्होंने उनकी पत्रकारिता को जनहित का प्रतिनिधित्व करने के लायक समझा है।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार