Thursday, February 22, 2024
spot_img
Homeसोशल मीडिया सेपाकिस्तानी हीरोइन बनी अरुणाचल की बहू, सोशल मीडिया पर भड़के कट्टरपंथी

पाकिस्तानी हीरोइन बनी अरुणाचल की बहू, सोशल मीडिया पर भड़के कट्टरपंथी

पाकिस्तानी एक्ट्रेस शादी के बाद पहली बार अपने ससुराल अरुणाचल प्रदेश आईं। उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पर ससुराल में हुए वेलकम की तस्वीरों को साझा किया जिसे देख कई यूजर्स ने उनकी तारीफ की जबकि इस्लामी कट्टरपंथी इसे देख बिदक गए।

पाकिस्तान की मशहूर अदाकाराओं में से एक मदीहा इमाम ने पिछले दिनों एक भारतीय फिल्म मेकर से शादी की थी। उनके पति का नाम ‘मोजी बासर’ है जो नॉर्थ-ईस्ट इंडिया से ताल्लुक रखते हैं। शादी के बाद हाल में मदीहा अपने ससुराल पहली बार अरुणाचल प्रदेश (जिला- लेपा-राड़ा, शहर-बासर) आईं। उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पर ससुराल में हुए वेलकम की तस्वीरों को साझा किया जिसे देख कई यूजर्स ने उनकी तारीफ की जबकि इस्लामी कट्टरपंथी इसे देख बिदक गए।

यासिर खान की इंस्टा आई डी से उनके लिए लिखा गया- इस्लाम को बदनाम करने वालों का ठिकाना जहन्नुम है।

शिजा जमशेद ने मदीहा की फोटो पर लिखा- “बहुत बेगैरत है तू। जब निकाह ही नहीं हुआ तो शाह कैसे हुई। ये बस जिना है शर्म आनी चाहिए। जहन्नुम में सड़ोगे।”

खान नादिम ने पूछा- मुस्लिम मर गए थे क्या, हिंदू से शादी कर ली।

गुलफिशां ने कहा- “सैयद भी हैं आप मुस्लिम भी फिर हिंदू से शादी क्यों की। अपने यहाँ गैर मुस्लिम से तो निकाह जायज नहीं। सैयदजादी की शादी सैयद के अलावा किसी से नहीं हो सकती। आप सैयद नहीं हो।”

इसपर एक यूजर ने कहा कि गूगल चेक करो जरा ये हिंदू बन गई है। दूसरे ने कहा- उफ्फ अल्लाह जिसको न चाहे उसे ऐसे ही खुद से दूर कर देता है।

अयात पठान ने कहा, “इसने भारतीय से शादी क्यों की। मुझे नहीं पता था कि इसका पति इंडियन हैं। ये पागल है या फिर कुछ और। मैं तुमको अनफॉलो कर रहा हूँ। हैरान हूँ कि इसने मुस्लिम से शादी क्यों नहीं की।”

गौरतलब है कि पाकिस्तानी एक्ट्रेस मदीहा ने इसी साल मई महीने में मोजी बासर से शादी की थी। इसकी तस्वीरें भी उन्होंने सोशल मीडिया पर डाली थी। उन्होंने लिखा था- “1 मई 2023 को शादी कर ली। हमें अपनी दुआओं में याद रखिएगा क्योंकि हम जीवन का नया अध्याय शुरू करने जा रहे हैं।” इसके बाद उन्होंने पिछले माह दुबई में अपना वलीमा भी याच में आयोजित किया था।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार