Saturday, May 25, 2024
spot_img
Homeसोशल मीडिया सेहिरण मारने वाला आजाद और बचाने वाले को सजा, ये कैसा 'मेक...

हिरण मारने वाला आजाद और बचाने वाले को सजा, ये कैसा ‘मेक इन इंडिया, हैं?

चर्चा का विषय था अभी उज्जैन सिंहस्थ को कुछ समय बीता है , नीलगिरि महाराज जोकि एक हिरण(संतोष गिरी) को लेकर आये थे , कहते है हिरण बचपन से इनके साथ है , सिंहस्थ में दूसरी दीक्षा नागा संत की जब हुई उक्त समय घनघोर बारिश तूफ़ान आये थे इस बात से सभी अवगत है दैनिक भास्कर के प्रथम पेज पर हिरण और साधू दीक्षा समारोह में देखे गए । हिरण साधू के साथ में ही रहता है खाता पीता है एवं स्वतंत्र रहता है।

सिंहस्थ के समापन के बाद नीलगिरि महाराज जब पुनः हिरण को लेकर अपने आश्रम जा रहे थे तभी वनविभाग की टीम ने उनका हिरण जप्त कर इंदौर प्राणी संग्रालय में भेज दिया , जो बहुत गलत है। संत का प्रेम था हिरण, आज वो संत उस हिरण के लिए अनशन कर रहे है , उन्हें क्या पता था की हिरण को जप्त कर लिया जायेगा ऐसा होता तो वो हिरण के साथ सिंहस्थ में नहीं आते । और ये दुर्लभ क्षण हम देख नहीं सकते ।

ये देश का दुर्भाग्य हैं कि हिरण का शिकार करने वाला सलमान खान आजाद घूम रहा हैं जबकि उसे पुत्रवत साथ में रखने वाला संत पीड़ा भोग रहा हैं।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार