ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

इम्पैक्ट गुरु में 3.3 करोड़ की अंतर्राष्ट्रीय पूँजी निवेश की घोषणा

क्राउडफडिंग मंच इम्पैक्ट गुरु को सिंगापुर की उद्यम पूंजी फम्र्स आर.बी. इन्वेस्टमेंट्स एवं दक्षिणपूर्व एशिया के निजी निवेश मंच फण्डनेल ने 3.3 करोड़ रुपये की पूंजीनिवेश की घोषणा की है। विश्व में यह पहली क्राउडफडिंग मंच एवं निजी निवेश मंच के बीच साझेदारी की घटना है। विदित हो कि इम्पैक्ट गुरु हार्वर्ड इनवेशन लैब से जुड़ा नवीन खोजकारी उद्यम एवं प्रोत्साहन कार्यक्रम से प्रेरित मंच है।

इम्पैक्ट गुरु के सह संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री पीयूष जैन ने बताया कि इम्पैक्ट गुरु को प्राप्त इस पूंजीनिवेश के पश्चात भारत में क्राउडफडिंग के माध्यम से सामाजिक उद्देश्यों, परोपकारी कार्यों एवं व्यक्तिगत जरूरतों के लिए आॅनलाइन दान के उपक्रमों को प्रोत्साहन मिलेगा। फण्डनेल निजी निवेश नेटवर्क के माध्यम से भारत और दक्षिणपूर्व एशिया के स्टार्टअप्स एवं सामाजिक उद्यमों के लिए आॅफलाइन आर्थिक जरूरतों को पूरा करने के लिए तत्पर होगा। वह अपने संसाधनों- ग्रुप, कार्यालयों एवं निजी निवेश के नेटवर्क का अंतर्राष्ट्रीय जरूरतों के लिए सफलतापूर्वक उपयोग करेगा। फण्डनेल इम्पैक्ट गुरु के साथ मिलकर भारत में स्टार्टअप्स एवं सामाजिक उद्यमों को प्रोत्साहित करने के लिए पूंजीनिवेश एवं आर्थिक संसाधन जुटाने के लिए प्रयास करेगा। वह दक्षिणपूर्व एशिया के देशों के निवेशकों को अंतर्राष्ट्रीय निवेश के लिए भी आमंत्रित करेगा।

इस भागीदारी से इम्पैक्ट गुरु विशेषतः सिंगापुर, हांगकांग, मलेशिया एवं इंडोनेशिया में बसे अनिवासी भारतीयों एवं भारतीय मूल के व्यक्तियों को परोपकारी कार्यों के लिए एवं पूंजीनिवेश के लिए प्रोत्साहित करेगा। इन देशों में लगभग 25 लाख भारतीय बसे हैं, जिन्हें भारतीय सामाजिक जरूरतों के लिए जागरूक किया जायेगा। प्राप्त फण्ड से इम्पैक्ट गुरु अपनी बहुउद्देशीय योजनाओं एवं कोर कमेटी का विस्तार करेगा।

भारत में उद्यमशीलता को प्रोत्साहित करने, उत्पादन में तेजी लाने, बिक्री और विपणन के प्रयासों को विस्तारित करने एवं सामाजिक जरूरतों के लिए दान की प्रवृत्ति को बढ़ाने के लिए दानदाताओं, ग्राहकों, निवेशकों का एक समुदाय निर्मित किया जाएगा।
विदित हो कि इम्पैक्ट गुरु इससे पहले भी अनेक गैर मुनाफे के संगठनों के साथ जुड़कर अपनी सेवाएं दे चुका है जिनमें आॅक्सफेम, एसओएस बाल ग्राम, हैविडेट फाॅर हयूमिनिटी, सीएसआर विभाग- टाटा, गोदरेज, वाॅकहार्ट आदि हैं। वह डेलबर्ग और आशा इम्पैक्ट जैसे संगठनों की तरह ही अपना विस्तार करना चाहता है। श्री जैन ने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि इम्पैक्ट गुरु के माध्यम से आगामी दो वर्षों में पचास करोड़ के सामाजिक सेवा एवं परोपकार के कार्य का लक्ष्य हासिल करेंगे, जो पूंजीनिवेश या दान के माध्यम से जुटाया जायेगा।

प्रेषकः
(ललित गर्ग)
ए-56/ए, प्रथम तल, लाजपत नगर-2
नई दिल्ली-110024
मो. 9811051133

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top